RTI की कार्यवाही से 19024 किसान हुए लाभान्वित – राज्य सूचना आयुक्त श्री हाफिज उस्मान

राज्य सूचना आयुक्त श्री हाफिज उस्मान

RTI की अवहेलना करने पर हुआ, रू0 10,000 का अर्थदण्ड अधिरोपित

लखनऊ । मुजफ्फरनगर निवासी श्री विकास कुमार ने सूचना अधिकार अधिनियम-2005 के तहत जिला कृषि रक्षा अधिकारी, मुजफ्फरनगर को आवेदन-पत्र देकर जानकारी चाही थी कि जनपद में किसानों को दवाईयांे हेतु कितने प्रतिशत का अनुदान मिलता है, अब तक कितने किसान कृषि अनुदान के तहत लाभान्वित हुए है, किस-किस किस्म की दवाईयाॅं/बीज आदि किसानों को विभाग द्वारा दिये जाते है, आदि से सम्बन्धित बिन्दुओं की प्रमाणित छायाप्रतियों सहित बिन्दुवार सूचनाएं उपलब्ध करायी जाये, मगर इस सम्बन्ध में विभाग द्वारा वादी को कोई जानकारी नहीं दी गयी है, अधिनियम के तहत सूचना प्राप्त न होने पर वादी ने राज्य सूचना आयोग में अपील दाखिल कर प्रकरण की जानकारी चाही है।

राज्य सूचना आयुक्त श्री हाफिज उस्मान ने जिला कृषि रक्षा अधिकारी, मुजफ्फरनगर को सूचना का अधिकार अधिनियम-2005 की धारा 20 (1) के तहत नोटिस जारी कर आदेशित किया कि वादी द्वारा उठाये गये बिन्दुओं की बिन्दुवार सभी सूचनाएं अगले 30 दिन के अन्दर अनिवार्य रूप से वादी को उपलब्ध कराते हुए, मा0 आयोग को अवगत कराये, अन्यथा जनसूचना अधिकारी स्पष्टीकरण देंगे कि वादी को सूचना क्यों नहीं दी गयी है, क्यों न उनके विरूद्ध दण्डात्मक कार्यवाही की जाये, परन्तु प्रतिवादी ने न तो वादी द्वारा उठाये गये बिन्दुओं की सूचना वादी को उपलब्ध करायी है, और न ही मा0 आयोग के समक्ष उपस्थित हुए है। इससे ऐसा प्रतीत होता है कि प्रतिवादी जानबूझकर वादी को सूचना उपलब्घ नहीं करना चाहता है। इसलिए प्रतिवादी जनसूचना अधिकारी, जिला कृषि रक्षा अधिकारी, मुजफ्फरनगर को वादी को सूचना उपलब्ध न कराने का दोषी मानते हुए, उनके विरूद्ध आज की तिथि से रू0 250/- प्रतिदिन का अर्थदण्ड अधिरोपित किया जाता है, जो कि रू0 10000/- (रू0 दस हजार) है।

जिला कृषि रक्षा अधिकारी, मुजफ्फरनगर से श्री अनिल कुमार उपस्थित हुए, उनके द्वारा बताया गया है कि कुल 19,024 (उन्नीस हजार, चैबीस) किसानों को कृषि कार्य हेतु दवाईयां उपलब्ध करायी गयी है, बायोपेस्टीसाइट ट्राइकोडरमा, ब्यूवेरिया बेसियाना, स्यूडोमोनास, मैटाराइजियम, एजाडी रैक्टीन, मैलाथियान कार्टाप हाइड्रोक्लोराइड, फिप्रोनिल, क्लोरोपाइरिफाॅस, डाइमैथेएट, क्यूनाल्फास, मैनकोजब, जिनेब, सल्फर, प्रिटिलाक्लोर, पेडामैथालिन, डी0 सोडियम साल्ट, ग्लाइफोसैट, मैट्रीब्यूजिन आदि पर कुल रू0 41,58,707 (रू0 इक्तालीस लाख, अठ्ठावन हजार, सात सौ सात) व्यय हुए हैं, इस आशय की जानकारी प्रतिवादी ने मा0 आयोग को दी है।