कोरोना वायरस के संक्रमण को फैलने के डर से ईरान के 54 हज़ार कैदी रिहा

Corona Virus
लखनऊ मीट वाला
Raw Fresh Meat Delivery App, Download Now On Google Play Store

ईरान के कई आला अधिकारी भी कोरोना वायरस (Corona Virus) की चपेट में 

कोरोना वायरस (Corona Virus) के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए ईरान ने क़रीब 54 हज़ार कैदियों को अस्थायी तौर पर रिहा किया है। जिन जेलों में कैदियों की संख्या बहुत अधिक है और जेलें भरी हुई हैं, वहां कोरोना वायरस (Corona Virus) का संक्रमण रोकने के लिए यह क़दम उठाया गया है।

ये भी पढ़े:बेटा ही निकला बाप का कातिल , प्रापर्टी को लेकर गोलियों से भुना

Corona Virus

न्यायपालिका के प्रवक्ता घोलमहुसैन इस्माइली ने पत्रकारों से कहा इन कैदियों की जांच की गई है और इनके सैंपल निगेटिव पाए गए हैं। ज़मानत पर इन्हें अस्थायी तौर छोड़ा गया है। हालांकि ‘सिक्योरिटी प्रिज़नर्स’ जिन्हें पांच साल से अधिक की सज़ा सुनाई गई है उन्हें नहीं छोड़ा गया है। ब्रिटिश-ईरानी चैरिटी वर्कर नाज़नीन ज़घारी-रैटक्लिफ़ को भी बहुत जल्दी ही छोड़ दिया जाएगा।

ये भी पढ़े:भारतीय रस्साकशी संघ द्वारा दो दिवसीय ज़ोनल प्रतियोगिता का आयोजन चौक स्टेडियम में

Corona Virus

नाज़नीन के पति ने शनिवार को कहा था कि उन्हें पूरा यक़ीन है कि उनकी पत्नी कोरोना वायरस से संक्रमित है। वो इस समय तेहरान के एविन जेल में हैं। हालांकि अधिकारियों ने उनकी जांच करने से मना कर दिया था।

ये भी पढ़े:पीड़ितों के न्याय के लिए अनिश्चितकालीन धरने पर बैठा प्रजापति समाज

नाज़नीन को जासूसी के आरोप में दोषी ठहराए जाने के बाद साल 2016 में पांच साल की सज़ा सुनाई गई थी। ब्रिटेन कहता रहा है कि वो निर्दोष हैं। ईरान के कई आला अधिकारी कोरोना वायरस की चपेट में हैं। ईरानी संसद के 290 सदस्यों में से 23 के नमूने पॉज़िटिव पाए गए हैं।

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...