चीन में किस तरह से महिलाओं को डाला जाता है जिस्म फरोशी के दलदल में

60 percent of women are smuggled in China

लड़कियों को जबरदस्ती साइबरसेक्स (इंटरनेट पर आपत्तिजनक लाइव वीडियो बनाना) के लिए मजबूर किया जाता है

देह व्यापार के लिए बड़ी संख्या में उत्तर कोरियाई महिलाओं और लड़कियों की चीन में तस्करी की जाती है। लंदन स्थित एनजीओ कोरिया फ्यूचर इनिशिएटिव (KFI) ने अपनी रिपोर्ट में यह दावा किया है। दो साल में तैयार हुई इस रिपोर्ट के अनुसार, कई महिलाओं को वेश्यावृत्ति में झोंक दिया जाता है जबकि कुछ को चीनी पुरुषों की पत्नी बनने के लिए बेच दिया जाता है। कई लड़कियों को जबरदस्ती साइबरसेक्स (इंटरनेट पर आपत्तिजनक लाइव वीडियो बनाना) के लिए भी मजबूर किया जाता है। केएफआइ का कहना है कि 12 साल तक की कई बच्चियां भी दुष्कर्म जैसे घिनौने अपराध का शिकार हुई हैं।

ये भी पढ़े:PM मोदी की बायॉपिक फिल्म का नया पोस्टर हुआ लॉन्च
60 percent of women are smuggled in China

60 फीसद महिलाओं की चीन में तस्करी की जाती है-KFI

वर्ष 2014 में आई संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की रिपोर्ट के अनुसार, हजारों उत्तर कोरियाई चीन में शरणार्थी हैं। इसका कोई स्पष्ट आंकड़ा नहीं हैं लेकिन केएफआइ का दावा है कि करीब दो लाख लोग चीन और आसपास के इलाकों में शरणार्थी है। इनमें से 60 फीसद महिलाओं की चीन में तस्करी की जाती है। केएफआइ ने कहा, ‘ऐसे समय पर जब उत्तर कोरिया में राजनीतिक दखल बढ़ा है, वहां की महिलाओं का देह व्यापार में झोंका जाना शर्मनाक और निंदनीय है।

ये भी पढ़े:वीमेन एक्सीलेंसी अवार्ड 2019 का हुआ आयोजन, Wow ग्रुप की 51 महिलाये हुई सम्मानित

उत्तर कोरियाई सरकार के खिलाफ सख्त कदम उठाना जरूरी है-मानवाधिकार संगठन ह्यूमन राइट्स वाच

आपको बता दे की उत्तर कोरियाई महिलाओं की स्थिति पर पिछले साल नवंबर में जारी रिपोर्ट में मानवाधिकार संगठन ह्यूमन राइट्स वाच ने भी कहा था, ‘केवल इसकी निंदा करना काफी नहीं है। चीन के देह व्यापार और महिलाओं को दोयम दर्जे का समझने वाली उत्तर कोरियाई सरकार के खिलाफ सख्त कदम उठाना जरूरी है।’ अमेरिकी विदेश मंत्रालय ने भी 2018 की अपनी रिपोर्ट में उत्तर कोरियाई महिलाओं पर यौन हिंसा होने की बात स्वीकारी थी।

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/