पुलिस द्वारा लॉकडाउन का उलंघन करने की कार्यवाही के दौरान 70 साल के पुजारी की मौत

लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान 70 साल के पुजारी की मौत के बाद जहा परिजनों ने पुलिस पर मारने का आरोप लगाया है वही दूसरी तरफ पुलिस उसकी मौत तबियत खराब होने की वजह बता रही है

गोरखपुर। गोरखपुर में रामगड्ताल थाना क्षेत्र में एक 70 साल के पुजारी की मौत हो गई, लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान कुछ लडको को पुलिस समझाने के साथ उन्हें मारा जा रहा था, उसी दौरान पुजारी उन्हें छुड़ाने आया, तभी एक पुलिस वाले ने 70 साल के पुजारी को सीने पर पैर से मार दिया गया जिससे वो बेहोश हो गया, और अस्पताल में उसकी मौत हो गई।

रामगढ़ ताल थाना क्षेत्र के आजाद नगर चौकी स्थित श्री हनुमान राम जानकी मंदिर महुईधार निकट कुछ युवा लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान वीडियो बना रहे थे। पुलिस ने उन्हें दौड़ाया, कुछ युवक भाग गए, लेकिन एक युवक पकड़ लिया गया जिसे पुलिस पीटने लगी तभी मंदिर के पुजारी ने युवक को छुड़ाने की गुजारिश करने लगा, बीच-बचाव करने आए पुजारी को भी पुलिस ने पैर से मारा और पुजारी गिरकर बेहोश हो गया। पुजारी के बेहोश होने पर पुलिस उसे उठाकर जिला अस्पताल ले गई जहां डॉक्टरों ने पुजारी को मृत घोषित कर दिया, उसके बाद पुलिस पुजारी को मेडिकल कॉलेज ले गए।

Lockdown

मृतक की पत्नी सुखदेवी का आरोप है कि आजाद नगर चौकी इंचार्ज सूरज सिंह लॉकडाउन के दौरान लोगों को रोक रहे थे, इसी बीच कुछ युवक मंदिर पर चढ़कर वीडियो बना रहे थे। पुलिस ने युवकों को दौड़ाया कुछ युवक भाग गए, जिसमें से मंदिर में रहने वाला एक युवक को पुलिस ने पकड़ लिया और बुरी तरीके से पीटने लगी।

जिसको छुड़ाने के लिए पुजारी कोयल दास उर्फ टिकोरी दास पुलिस से युवक को छोड़ने की गुजारिश की लेकिन पुलिस ने युवक को नहीं छोड़ा और उल्टे पुजारी को लात घूंसे से पीटने लगे और वह बेहोश हो गए। पुलिस उन्हें यह कहकर ले गई कि उनकी तबीयत खराब हो गई है इलाज कराने ले जा रहे हैं।

ये भी पढ़े: Corona Virus : Income Tax भरने के लिए सरकार ने दी 3 महीने की छूट

पुजारी का पोता गौतम ने बताया कि लॉकडाउन के दौरान कुछ युवक वीडियो बना रहे थे जिसको पुलिस ने दौड़ाया उसमें से एक युवक पकड़ में आ गया और पुलिस उसे पीटने लगी तो नाना उसे छुड़ाने गए तो पुलिस वालों ने उन्हें भी पीटा जिसकी वजह से उनकी अस्पताल में मौत हो गया।

फ़िलहाल पुलिस इस मामले कह रही है कि पुजारी की तबियत खराब थी जिसको लेकर उसे अस्पताल ले जाया गया, और वहा डॉक्टरो ने उसे मृत घोषित कर दिया। परिजनों के आरोप को लेकर सीओ ने कहा कि एसी बात नहीं है लेकिन अगर इस तरह की बात सामने आती है तो जाँच कर कार्यवाही की जाएगी।

लॉकडाउन (Lockdown) के दौरान एक 70 साल के पुजारी की मौत के बाद जहा परिजनों ने पुलिस पर मारने का आरोप लगाया है। वही दूसरी तरफ पुलिस उसकी मौत तबियत खराब होने की वजह बता रही है फ़िलहाल आरोपों पर पुलिस जाँच की बात कह रही है। वजह जो भी हो लेकिन एक पुजारी के मौत ने इलाके को सदमे में जरुर डाल दिया है।

संस्कार न्यूज़ की खबरे अपने व्हाट्सऐप पर पाने के लिए दिए गए लिंक पर क्लिक करे और अपना नाम, शहर एवं न्यूज़ लिख कर सेंड करें – Whats’app – https://wa.me/918604540651

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...