पैग़म्बर मोहम्मद साहब की पैदाइश के मौके पर निकाला गया शाही जुलूस, जुलूस ए मोहम्मदी

शाही जुलूस

जुलूस के माध्यम से दिया गया मोहम्मद साहब के पैग़ाम ए इंसानियत का संदेश

लखनऊ। हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी इस्लाम धर्म के आखिरी पैग़म्बर मोहम्मद साहब की पैदाइश के मौके पर अंधे की चौकी से फैज़ नबी हॉल दुबग्गा तक बड़ी शानओ शौकत के साथ शाही जुलूस, जुलूस ए मोहम्मदी निकाला गया। जुलूस में शहर की कई मशहूर अनुमानों नें नात पेश की,  जुलूस की सदारत और तकरीर मौलाना अब्दुल हलीम फारूक़ी साहब की थी।

जुलूस ए मोहम्मदी

हर वर्ष शाही जुलूस हसीनूद्दीन खान बलवंत कि सरपरस्ती में निकाला जाता है जुलूस का आयोजन भी हर वर्ष हसीनउद्दीन बलवंत ही करतें हैं जुलूस में हजारों लोगों ने शायरों, अंजुमनों के साथ साथ सलाम पढ़ते चल रहे थे। इस जुलूस में सभी धर्मों के मानने वाले उपस्थित थे, जुलूस का संचालन मख़मूर काकोरवी ने किया।

ये भी पढ़े : ईद मिलादुन्नबी पर्व : शहर में गूंजा ‘या नबी सलाम अलैका’ का तराना

इस जुलूस के माध्यम से मोहम्मद साहब के पैग़ाम ए इंसानियत का संदेश देते हैं जुलूस के बाद देश हित और समस्त मानवता के हित में दुआ की गई, शहर के कई गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

देखे वीडियो –

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...