Microsoft की टेकआइल रिपोर्ट के अनुसार कर सकते है सालाना 93500 रूपये की बचत

माइक्रोसॉफ्ट

माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) द्वारा जारी टेकआइल रिपोर्ट के अनुसार एसएमई (SME) सालाना 93500 रूपये की बचत कर सकते है

लखनऊ। माइक्रोसॉफ्ट (Microsoft) ने बुधवार को भारत में एसएमई (SME) पर किए गए सर्वेक्षण के परिणामों का अनावरण किया, जिसके अनुसार चार साल से पुराने पीसी (PC) उपयोग कर रहे एसएमई (SME) को प्रति डिवाइस 93500 रूपये खर्च करने पड़ते है। टेकआइल द्वारा किए सर्वेक्षण में पुराने पीसी का इस्तेमाल करने के कारण मरम्मत, उत्पादकता की कमी एवं सुरक्षा में जोखिम के चलते उपयोगकर्ता को यह अतिरिक्त खर्च उठाना पड़ता है।

सर्वेक्षण में यह भी पता चला है कि चार साल से पुराने एक पीसी की रखरखाव में आने वाले लागत पर तीन या अधिक आधुनिक पीसी खरीदे जा सकते हैं। यह सर्वेक्षण लखनऊ और भारत के 20 अन्य शहरों में एसएमई (SME) पर किया गया।

उत्तरप्रदेश में 89 लाख से अधिक एमएसएमई (MSME) हैं, यह संख्या भारत में सबसे अधिक है, यह उद्यम 1.65 करोड़ से अधिक लोगों को रोज़गार देते हैं। सीआईआई की रिपोर्ट के अनुसार ये एमएसएमई राज्य के ओद्यौगिक आउटपुट में तकरीबन 60 फीसदी का योगदान देते हैं।

ये भी पढ़े: अब आम समेत अन्य फल व सब्जियां अंतरराष्ट्रीय स्तर पर बनाएंगे नयी पहचान

पीसी (PC) यानि पर्सनल कम्प्यूटर (Personal Computer) एसएमई (SME) के संचालन में बेहतर दक्षता, बेहतर उत्पादकता और बेहतर विकास के लिए मार्ग प्रशस्त करते हैं। हालांकि जब एक पीसी (PC) चार साल से अधिक पुराना होजाता है, इसके इस्तेमाल की लागत कई गुना बढ़ जाती है। यह अतिरिक्त लागत पीसी की मरम्मत, रखरखाव, उत्पादकता में कमी की वजह से होती है।

Microsoft

फरहाना हक, ग्रुप डायरेक्टर- डिवाइसेज़, माइक्रोसॉफ्ट इण्डिया (Microsoft india) के अनुसार, ‘‘भारतीय एसएमई (SME) (लघु एवं मध्यम उद्योग) अपने संचालन को प्रभावी बनाने तथा नए उपभोक्ताओं के साथ जुड़ने के लिए बड़े पैमाने पर तकनीक का इस्तेमाल कर रहे हैं, जिसके चलते कारोबारों का विकास तेज़ी से हो रहा है। माइक्रोसॉफ्ट विंडोज़ 10 पावर्ड पीसी (Microsoft Windows 10 powered PC) उपलब्ध कराने के लिए पीसी निर्माताओं के साथ मिलकर काम कर रहा है, जो एसएमई (SME) की कारोबार संबंधी ज़रूरतों को पूरा करते हैं, उनके कारोबार की उत्पादकता बढ़ाने में मदद करते हैं और कर्मचारियों को आधुनिक तकनीक के द्वारा सहयोग प्रदान करते हैं।’’

रिपोर्ट में पुराने पीसी के रखरखाव, मरम्मत, कम उत्पादकता के कारण एसएमई की अतिरिक्त लागत पर रोशनी डाली गई है

सर्वेक्षण किए गए 30 फीसदी से अधिक एसएमई (SME) चार साल से पुराने पीसी इस्तेमाल कर रहे हैं। सर्वेक्षण में यह भी पाया गया है कि एसएमई (SME) नए पीसी खरीदने से घबराते हैं, क्योंकि उन्हें लगता है कि वर्तमान में वे जिन ऐप्लीकेशन्स का इस्तेमाल कर रहे हैं, वे अपग्रेडेड पीसी पर काम नहीं करेंगे, या उनके पास नए पीसी खरीदने के लिए धनराशि नहीं होती। एसएमई मालिक अक्सर अल्पकालिक लागत पर ध्यान केन्द्रित करते हैं, जो ज़्यादातर मामलों में सही नहीं होता, बल्कि अक्सर इसकी वज़ह से ज़्यादा लागत आती है। ज़्यादातर मामलों में पुराने पीसी की मरम्मत पर खर्च होने वाली लागत नए पीसी की खरीद की तुलना में अधिक होती है।

सर्वेक्षण में पाया गया कि आधुनिक पीसी (Modern PC) का इस्तेमाल करने वाले एसएमई (SME) की उत्पादकता बढ़ी है, लागत में कमी आई और सुरक्षा का स्तर बढ़ा है। इसका विवरण निम्नानुसार हैः

  • 66 फीसदी एसएमई (SME) ने पाया कि पुराने पीसी के बजाए क्लाउड एवं मोबिलिटी समाधानों से पावर्ड नए पीसी अपनाने से उनकी दक्षता में सुधार हुआ।
  • 63 फीसदी एसएमई ने पाया कि वे नए पीसी (PC) पर ज़्यादा सुरक्षित हैं और अपने डेटा को सिक्योर रख सकते हैं।
  • 58 फीसदी एसएमबी के अनुसार नया पीसी (PC) अपनाने से उनकी रखरखाव की लागत कम हुई।
  • 41 फीसदी एसएमबी ने माना कि नए पीसी (PC) ने उनके कर्मचारी ज़्यादा उत्पादकता हो गए हैं।

विंडोज़ 10 ऑपरेटिंग सिस्टम (Windows 10 operating system) से युक्त नए पीसी एसएमई के लिए कारोबार एवं आईटी फंक्शन्स को बढ़ाते हैं, इसका विवरण निम्नानुसार हैः

ये भी पढ़े: दबंग बिल्डर ने अवैध कब्जा कर बनाई आलीशान बहुमंज़िला इमारत

  • उच्च उत्पादकताः विंडोज़ 10 अपने बिल्ट-इन टूल्स एवं आधुनिक फीचर्स के साथ उपयोगकर्ता को सहज अनुभव प्रदान करता है, यह उपयोगकर्ता के काम को अधिक प्रभावी बनाता है। नया पीसी 4 साल पुराने पीसी की तुलना में 2.1 गुना तेज़ी से मल्टी टास्किंग करता है, जिससे कर्मचारी की उत्पादकता बढ़ती है।
  • इंटेलीजेन्ट सिक्योरिटीः पुराने पीसी का इस्तेमाल करने से डेट चोरी की संभावना बढ़ जाती है। विंडोज़ 10 अडवान्स्ड सिक्योरिटी के साथ एसएमई को हैक और साइबर-अटैक से सुरक्षित रखता है।
  • आसान डिप्लॉयमेन्टः विंडोज़ 10 के साथ आईटी डिप्लॉयमेन्ट और अपडेट्स करना आसान हो जाता है, इसके अलावा, विंडोज़ 7 ऐप्लीकेशन्स को आसानी से विंडोज़ 10 में अपग्रेड किया जा सकता है।
  • प्रत्यास्थ प्रबंधनः विंडोज़ 10 स्मार्टफोन और टेबलेट की तरह मोबाइल डिवाइसेज़ के साथ सहज और बेहतर इंटीग्रेशन उपलब्ध कराता है।

सर्वेक्षण के अनुसार भारत में एसएमई (SME) में इस्तेमाल किए जाने वाले 61 फीसदी से ज़्यादा पीसी में विंडोज़ के पुराने वर्ज़न का इस्तेमाल किया जा रहा है। इन्हें विंडोज़ 10 में अपग्रेड करने से पीसी को अधिक सुरक्षित, उत्पादक और सहज बनाया जा सकता है।

देखे वीडियो-

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...