तीन करोड़ के मौत के सामान पर प्रशासन का शिकंजा

दीवाली

दीवाली (Diwali) के पहले प्रशासन के चाबुक ने अवैध पटाखा कारोबारियों की कमर तोड़कर रख दी है

गोरखपुर। दीवाली (Diwali) के पहले जिला प्रशासन का मौत के सामन पर शिकंजा, गोरखपुर में जिला प्रशासन की बड़ी कार्यवाही हुई, मौत के सामान को प्रशासन ने जप्त कर लिया है, और तकरीबन 3 करोड़ का माल बरामद कर दो व्यक्तियों को हिरासत में भी ले लिया है, और आगे की कार्यवाही कर रही है।

दीवाली (Diwali) के पहले प्रशासन के चाबुक ने अवैध पटाखा कारोबारियों (Illegal cracker trader) की कमर तोड़कर रख दी है। प्रशासन ने एक ट्रांसपोर्टर और अवैध पटाखा के कारोबारी के गोदाम से दो जगहों पर छापे मारकर तीन करोड़ अनुमानित कीमत के पटाखों का जखीरा बरामद किया है। भारी मात्रा में बरामद हुई बरामदगी के दौरान प्रशासनिक और पुलिस के आलाधिकारियों के भी होश उड़ गए।

अवैध पटाखा कारोबारियों (Illegal cracker trader) की जड़े इस काले कारोबार में कितनी गहरी हैं इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कुल बरामदगी 124 क्विंटल यानी 12 हजार 400 क्विंटल है। पुलिस ने एक ट्रांसपोर्टर और एक अवैध कारोबारी को मौके से गिरफ्तार भी किया है।

ये भी पढ़े : 18 अक्टूबर से होगा फर्स्ट ऑल इंडिया स्पोर्ट्स गैलेक्सी ट्रॉफी 2019 का आगाज

गोरखपुर जिला प्रशासन ने एसडीएम सदर/ज्‍वाइंट मजिस्‍ट्रेट प्रथमेश कुमार के नेतृत्‍व में गीडा इलाके के हरैया में शाहिद रजा नाम के अवैध पटाखा कारोबारी तीन मंजिला गोदाम में भरे और राजघाट इलाके में फल मंडी चौकी इंचार्ज अरुण कुमार ने ट्रांसपोर्टनगर से नारायण ट्रांसपोर्टर के महेन्‍द्र प्रताप के गोदाम पर छापेमारी की, वहां पर 164 गत्‍ते में रखा भारी मात्रा में पटाखा बरामद किया है।

ट्रांसपोर्टनगर में गिरफ्तार किए गए ट्रांसपोर्टर ने महेन्‍द्र प्रताप ने ये स्‍वीकार किया कि उन्‍हें ये पता है कि ये अवैध पटाखे है लेकिन, वे सिर्फ कोरियर की तरह उसे एक स्‍थान से दूसरे स्‍थान तक पहुंचाते हैं।

Diwali

जिलाधिकारी के. विजयेन्‍द्र पांडियन ने बताया कि दोनों के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर उन्‍हें गिरफ्तार कर लिया गया है। उन्‍होंने बताया कि अन्‍य जगहों पर भी छापेमारी की कार्रवाई की जा रही है। उन्‍होंने हिदायत देते हुए कहा कि पटाखे का भंडारण कराने के लिए कारोबारी पहले लाइसेंस ले, उसके बाद वैध रूप से पटाखे रखें नहीं तो ये अपराध की श्रेणी में आएगा।

जिलाधिकारी ने बताया कि इस तरह से अवैध रूप से पटाखे भंडारण करने से जान-माल का खतरा बना रहता है। उन्‍होंने बताया कि कुल बरामद पटाखा 124 क्विंटल है. इसकी कीमत तीन करोड़ रुपए है। मौके से शाहिद रजा और नारायण ट्रांसपोटर्स के महेन्‍द्र प्रताप को गिरफ्तार कर इनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया है।

ये भी पढ़े : आला हजरत (ala hazrat) ने दीन-ए-इस्लाम (deen-e-islam) का पैगाम पूरी दुनिया में पहुंचाया

ये अभियान दिवाली (Diwali) तक लगातार चलता रहेगा. उन्‍होंने बताया कि इस मामले में अन्‍य आरोपियों की भी गिरफ्तारी की जाएगी. सीएम सिटी में पहले भी अवैध रूप से रखे गए पटाखों की बरामदगी हो चुकी है. लेकिन, ये पहली बार है जब तीन करोड़ कीमत के 124 क्विंटल अवैध पटाखों की बरामदगी हुई है।

दीपावली (Diwali) से पहले इतनी बड़ी तादाद में मौत के सामान को बरामद किया गया है, जो की पहली बार हुआ है, और इस तरह की कार्यवाही से निश्चित रूप से उन कारोबारियों की कमर टूट जायेगी, जो चंद पैसों के खातिर मौत का खेल खेलते है, और घनी आबादी के बीच पटाखों के जखीरे का काला करोबर चलाते है।

देखे वीडियो –