Agneepath Protest: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज सेना प्रमुखों के साथ करेंगे अलग अलग मीटिंग

Agneepath Protest

Agneepath Protest: अग्निपथ विवाद के सम्बन्ध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज तीनों सेनाओं (थल सेना, नौसेना और वायु सेना) के प्रमुखों से मीटिंग अलग-अलग करेंगे।

Agneepath Protest: अग्निपथ विवाद के सम्बन्ध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आज तीनों सेनाओं (थल सेना, नौसेना और वायु सेना) के प्रमुखों से वार्ता करेंगे । साथ ही तीनों सेना प्रमुख प्रधानमंत्री से अलग-अलग मीटिंग करेंगे। सूत्रों से पता चला है कि नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार पहले पीएम मोदी से मिलेंगे। साथ ही अग्निवीरों की भर्ती शुरू करने के लिए पहले ही तीनों रक्षा सेवाओं ने नई सैन्य योजना के अधिसूचना जारी की है।

ये भी पढ़े :Agneepath Scheme: अग्निपथ योजना क्या है साथ ही इसका विरोध क्यों किया जा रहा आइये जानते है

सेना की तरफ से लागू अधिसूचना के अनुसार , अगले महीने से आवेदकों का ऑनलाइन पंजीकरण की शुरुआत हो जाएगी। सेना द्वारा बताया गया है कि अग्निवीर भारतीय सेना में एक भिन्न श्रेणी में आएंगे , जो कि किसी भी अन्य मौजूदा श्रेणी से अलग होगा। साथ ही चार वर्ष की सेवा अवधि के बीच प्राप्त जानकारी का खुलासा करने से भी रोका जाएगा। अग्निपथ योजना के अनुसार सेना का कुल 83 भर्ती अभियान अगस्त, सितंबर और अक्टूबर में पूरे भारतवर्ष में लागू किया जायेगा।

सैन्य विभाग के अतिरिक्त सचिव, लेफ्टिनेंट जनरल अनिल पुरी ने मीडिया से रूबरू होते हुए बताया कि जो भी युवावर्ग इस हिंसा और दंगे में शामिल था उनका नामांकन सैन्य भर्ती में नहीं किया जायेगा उसके लिए पहले नामांकन से पुलिस द्वारा सत्यापित किया जायेगा उसके बाद ही नामांकन प्रक्रिया की जाएगी।

सेना में भर्ती के लिए जारी अधिसूचना

सेना की तरफ से सोमवार को अग्निपथ सैन्य भर्ती युवाओ का पंजीकरण करने के लिए एक अधिसूचना जारी की है।जिसमे अगले महीने में आवेदकों के ऑनलाइन पंजीकरण की शुरुआत होगी । सेना ने अपनी अधिसूचना में बताया कि भर्ती के लिए ऑनलाइन पंजीकरण “www.joinindianarmy.nic.in” और “www.joinindianarmy.nic.in” पर कर सकते है।अग्निवीर भारतीय सेना में एक अलग श्रेणी में आएंगे, जो किसी भी दूसरी श्रेणी से अलग है । सेना ने बताया कि अग्निवीर योजना के माध्यम से नौकरी प्राप्त सैनिकों कि समय-समय पर चिकित्सा और शारीरिक जांच के साथ -साथ लिखित परीक्षाओं भी देना होगा होगा।

612 ट्रेनो को अग्निपथ विरोध कि वजह से बंद करना पड़ा

रेलवे विभाग कि तरफ से बताया गया कि अग्निपथ भर्ती योजना का विरोध लगातार हो रहा । इसी के चलते सोमवार, 20 जून को 600 से अधिक ट्रेनों को बंद करना पड़ा। रेलवे विभाग ने बताया कि प्रभावित 612 ट्रेनों में से 223 मेल और एक्सप्रेस ट्रेनों और 379 यात्री ट्रेनों सहित 602 ट्रेनों को बंद करना पड़ा । जिसमे चार मेल और एक्सप्रेस ट्रेनें और छह पैसेंजर ट्रेनो को बंद करना पड़ा। सबसे अधिक प्रभावित क्षेत्र पूर्व मध्य रेलवे जिसका मुख्यालय बिहार के हाजीपुर में है।

वीडियो में खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Click Here & Download Now The Lucknow Meat Wala