लखनऊ की MBBS छात्रा अमृता मिश्रा ने की खुदकुशी,पुलिस को मिला सुसाइड नोट

अमिता मिश्रा

पुलिस का मुताबिक शायद अमृता मिश्रा शादी नहीं करना चाहती थी या फिर अपनी पसंद के लड़के से शादी करना चाहती होगी, इसलिए उसने जान दे दी

लखनऊ में पारा के पिंक सिटी निवासी एमबीबीएस अंतिम वर्ष की पढ़ाई कर रही अमृता मिश्रा (30) ने फांसी लगा ली। इंस्पेक्टर त्रिलोकी सिंह ने बताया कि अमृता सीतापुर के महोली की थी और यहां किराये के मकान में रहकर डॉ. शकुंतला मिश्रा राष्ट्रीय पुनर्वास विश्वविद्यालय से पढ़ाई कर रही थी। पुलिस को उसके हाथों से लिखा सुसाइड नोट मिला है जिसमें उसने शादी की वजह से खुदकुशी का जिक्र किया है।

ये भी पढ़े:देश का सबसे अनोखा और बेहतरीन चिड़ियाघर, बर्ड सेंचुरी के साथ जल्द होगा सामने

इंस्पेक्टर ने बताया कि छात्रा के पिता अवनीश मिश्रा खेती-किसानी करते हैं। वह यहां पिंक सिटी में शिवकुमारी के मकान के दूसरे तल पर रहती थी। उसके साथ प्रीति नाम की युवती भी रहती थी। दो दिन से प्रीति अपने घर गई थी। रविवार शाम करीब पौने पांच बजे परिवारीजनों ने उसे फोन किया, लेकिन कॉल रिसीव नहीं हुई।

अमिता मिश्रा

कई कॉल करने पर भी बातचीत नहीं हुई तो परिवारीजनों ने पड़ोस के कमरे में रहने वाली संध्या का नंबर मिलाया। संध्या बाहर निकलकर अमृता के कमरे में गई तो दरवाजा खुला पाया। हालांकि, धक्का देने पर दरवाजा नहीं खुला। उसने एक और युवती को बुलाया। दोनों ने मिलकर दरवाजे को धक्का देकर खोला तो होश उड़ गए।

दरवाजे के ऊपर स्थित रोशनदान की ग्रिल से अमृता का शव लटका था। शव लटका होने की वजह से ही संध्या दरवाजा नहीं खोल पा रही थी। उसने तुरंत परिवारीजनों और पुलिस को सूचना दी। अमृता के फांसी लगाने की खबर से हड़कंप मच गया।

ये भी पढ़े:उपद्रवियों का पोस्टर चस्पा कर पुलिस कर रही पहचान की अपील

पुलिस ने शव फंदे से उतरवाकर अस्पताल भेजा, जहां चिकित्सकों ने अृमता को मृत घोषित कर दिया। इंस्पेक्टर ने बताया कि अमृता के अलावा अवनीश की एक बड़ी बेटी रेनू और छोटा बेटा अभय हैं। उधर, बेटी की मौत की खबर सुनकर मां मीना की हालत खराब हो गई।

अमृता ने सुसाइड नोट में लिखा, ‘मैं जीवन में अकेली रहना चाहती हूं। शादी नहीं करना चाहती हूं। अगर शादी नहीं करती तो समाज ताना मारेगा इसलिए आत्महत्या कर रही हूं।’ उसने अपने पिता का मोबाइल नंबर लिखते हुए बताया कि मेरी सूचना मेरे पिता को दे दी जाए।

अमिता मिश्रा

अमृता के पिता का कहना है कि दो साल पहले हरदोई के युवक से उसकी मंगनी कर दी गई थी। उसके एमबीबीएस का कोर्स पूरा करने का इंतजार किया जा रहा था। कोर्स पूरा होते ही उसकी शादी होनी थी। पुलिस का मानना है कि शायद अमृता शादी नहीं करना चाहती थी या फिर अपनी पसंद के लड़के से शादी करना चाहती होगी, इसलिए उसने जान दे दी।

ये भी पढ़े:फ़िरोज़ाबाद में हंगामा, नालबंद पुलिस चौकी फूंकी, मेरठ मुजफ्फरनगर में हुआ पथराव

अमृता के पिता ने बताया कि उनकी बेटी पास ही कुछ बच्चों को ट्यूशन पढ़ाती थी। सुबह उसकी बड़ी बहन रेनू के तीन साल के बेटे ने वीडियो कॉल की थी। अमृता ने कुछ देर उससे बातचीत करने के बाद ट्यूशन का टाइम होने की बात कहकर फोन काट दिया।

उसने भांजे से कहा था कि ट्यूशन से लौटकर वह फोन करेगी। पुलिस का कहना है कि भांजे से बातचीत के बाद क्या हुआ? उसने खुदकुशी किस वक्त की? कहीं अमृता की किसी से फोन पर कहासुनी तो नहीं हुई जिसके बाद उसने फांसी लगा ली? इन बिंदुओं पर जानकारी की जा रही है।