50 लाख रुपए की मांग करने वाला अपहरणकर्ता गिरफ्तार, 4 अदद देसी तमंचा हुआ बरामद

सभासद रीना देवी के पुत्र राहुल रावत का हुआ था अपहरण

चंदौली। सभासद रीना देवी निवासी चतुर्भुजपुर थाना मुग़लसराय ने एक प्रार्थना पत्र के माध्यम से थाना मुगलसराय को अवगत कराया कि उसके पुत्र राहुल रावत का किसी ने अपहरण कर लिया है। फिरौती के तौर पर 50 लाख रुपए की मांग कर रहा है। इस पर थाना मुग़लसराय ने अभियोग पंजीकृत कर के पुलिस अधीक्षक संतोष कुमार सिंह के निर्देशन मे अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार करने हेतु थाना मुग़लसराय तथा क्राइम ब्रांच चंदौली की संयुक्त टीमे बनाई गई और अपहरणकर्ताओं को गिरफ्तार करने हेतु क्राइम ब्रांच द्वारा भौतिक एवं तकनीकी सूचनाओं का संकलन करते हुए लगातार प्रयास जारी रखा, तभी मुखबिर के जरिए खास सूचना मिली कि जिन लोगों ने अपहरण किया है वह कुछ देर में चकिया चौराहे की तरफ आएंगे तथा स्थिति का जायजा लेने मुग़लसराय जाएंगे। सूचना पर पुलिस टीम द्वारा चकिया चौराहे पर एक संदिग्ध चार पहिया गाड़ी चौराहे की तरफ से आते हुए दिखाई दी शक होने पर मुखबिर द्वारा इशारा करने पर उक्त गाड़ी को रोकने का प्रयास किया गया। वाहन सवार व्यक्तियों ने पुलिस टीम पर फायर कर दिया तथा वाहन से कूद कर भागने लगे पुलिस टीम द्वारा स्वयं को बचाते हुए तथा तत्परता दिखाते हुए मुस्तैदी के साथ वाहन को रोककर वाहन सवार 4 लोगों को दबोच लिया गया। पकड़े गए व्यक्तियों के पास से 4 अदद देसी तमंचा 315 बोर 8 जिंदा कारतूस बरामद हुआ।

पकड़े गए व्यक्तियों से विस्तृत पूछताछ करने पर सभी ने बताया कि रात्रि में हम चारों लोगों ने अपने मित्र संदीप यादव निवासी गोधना, जूली उर्फ संतोष निवासी नगई व कपिल यादव निवासी बबुरी के साथ धोखे से राहुल रावत पुत्र वीरू रावत से 50 लाख फिरौती माँगा है तथा राहुल उपरोक्त को जूली उर्फ संतोष के घर ग्राम नगई में ताले में बंद करके रखा हैं, हम चलकर बरामद करा सकते हैं इस पर तत्काल पुलिस की बरामदगी हेतु अभियुक्तों को साथ लेकर उनके बताए स्थान पर ग्राम नगई थाना बबुरी जनपद चंदौली पहुंचे तो जूली उर्फ संतोष विश्वकर्मा के घर टीन शेड पर पहुंचा जहां बाहर से ताला बंद था ताला खोला गया तो एक बालक अंदर पडा था, हाथ पैर निर्ममता से बंधे हुए थे तथा पुलिस टीम को देख कर रोने लगा।

वह अपना नाम राहुल बताते हुए कहने लगा कि साहब दस जुलाई की रात में सत्यपाल गुप्ता ने मुझे मेरे घर से बहला फुसलाकर रेलवे स्टेशन लाया और वहां से हाईवे पर चाय की दुकान के पास अलीनगर लाया जहां मेरी टीवीएस स्कूटी को लॉक करके खड़ा कर दिया और जबरदस्ती मुझे स्कार्पियो मे लादकर यहां लाया था।

जब की दो अभियुक्त संतोष व शकील फरार हो गए थे जिनके उपर 25000 रुपए का एसपी चन्दौली ने ईनाम रखा है। जिसमे आज एक ईनामी संतोष को गिरफ्तार कर हिरासत मे लेकर थाना मुग़लसराय पहुंचे तथा अग्रिम कार्यवाही मे जुटगये।