Basket Chat Lucknow : क्या है इतिहास देश – विदेश में मशहूर लखनवी बास्केट चाट की

Basket Chat Lucknow

Basket Chat Lucknow : रॉयल कैफे के प्रसिद्ध बास्केट चाट के दीवाने लखनऊ के अलावा पूरी दुनिया में है जिसकी शुरुआत हरदयाल मौर्य ने 1992 में की थी जिन्हे हम चाट किंग के नाम से जानते है।

Basket Chat Lucknow : रॉयल कैफे के बास्केट चाट के दीवाने पूरी दुनिया में है. साथ ही नेता और अभिनेता का भी पसंदीदा व्यंजन है। बास्केट चाट की शुरुआत हरदयाल मौर्य ने 1992 में किया था। जिन्हे हम चाट किंग के नाम से जानते है उनका ये नाम पूरी दुनिया में मशहूर है । लखनऊ के अलावा पूरी दुनिया बास्केट चाट के स्वाद की दीवानी हो गई। कहते है कड़ी मेहनत रंग लाती ज़रूर है। आइए जानते है बास्केट चाट की नींव रखने वाले की पूरी कहानी।

ये भी पढ़िए- Cyber Attack : नाबालिक बेटे ने घर में ही किया साइबर हमला अपने पिता को ही दी धमकी

5 वर्ष की आयु में घर छोड़ा

हरदयाल मौर्य जब 5 वर्ष के थे तब उनका खेत 6 हजार रुपये में नीलाम हो गया था। हरदयाल मौर्य के पिता ने बैंक से कर्जा लिया था जिसे वह चुकता नहीं कर पाए थे। हरदयाल मौर्य का बचपन बहुत ही कठिनाईपूर्ण बीता उनके घर में खाने के लिए कुछ नहीं था, तभी पिता का सहारा बनने के लिए उन्होंने अपना परिवार त्यागकर 1980 में लखनऊ आ गए और अपना गुजारा सड़क के किनारे रहकर किया, एक दिन इनकी मुलाकात रॉयल कैफे के मालिक से हुई। रॉयल कैफे के मालिक ने हरदयाल मौर्य का नाम छोटू रखा और अपने रेस्टोरेंट में काम करने के लिए कहा जिस पर छोटू ने वहां काम करना स्वीकार कर लिया पहले हरदयाल के पिता आलू का कचालू बनाया करते थे। अपने पिता को कचालू बनाते हुए हरदयाल देखा करते थे। जिसे सीखकर हरदयाल ने कचालू को ही बास्केट चाट का रूप दे दिया।

छोटू से बन गए चाट किंग

हरदयाल रॉयल कैफे में काफी लम्बे समय से काम कर रहे है । इस बीच कई पत्रकार आए तो उन्‍होंने कुछ स्वादिस्ट बनाकर खिलाने के लिए बोला उस समय उन्होंने पहली बार अपने पिता के कचालू को नए तरीके से पेश करते हुए उसमें तरह -तरह की चीजों को डालकर बनाया। जो पत्रकार को काफी पसंद आया वह हरदयाल की फोटो खींचकर ले गए और उन्होंने हरदयाल की फोटो अखबारों में छाप दी।अखबार में फोटो आने के बाद से हरदयाल चाट किंग के नाम से प्रसिद्ध हुए जिसे लोग बाहर विदेशो से भी खाने आते है।

हरदयाल कैसे बनाते है बास्केट चाट

बास्केट चाट बनाने के लिए सबसे पहले आलू की एक छोटी सी टोकरी तैयार करते है, उसमें लपेटू छोले, दही बड़ा,आलू की टिक्की, पापड़ी, कुटी धनिया, कुटी हुई मिर्च, चाट मसाला, जीरा, मुरमुरे, तीखी चटनी, मीठी चटनी और अनार के दाने डालते हैं इसके बाद इसमें हाजमोला चटनी पड़ती है और बस बनकर तैयार है बास्केट चाट की कीमत 200 रुपये है. इसको तैयार करने में करीबन 5 से 10 मिनट का समय लगता है।

वीडियो में खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Click Here & Download Now The Lucknow Meat Wala