नवरात्र से पहले होगा, राम जन्मभूमि में विराजमान रामलला स्थान का शुभारम्भ

राम

अयोध्या में राम मंदिर का निर्माण लार्सन एण्ड टुब्रो कंपनी करेगी

राममंदिर निर्माण का कार्य लार्सन एंड टुब्रो कंपनी ही कराएगी। कंपनी के डिजाइन एवं निर्माण के प्रमुख वीरप्पन ने राम जन्मभूमि (Ram Janmabhoomi) तीर्थ क्षेत्र के महासचिव चंपत राय से दूरभाष पर वार्ता कर यह जिम्मेदारी स्वीकार की है। मंदिर निर्माण के लिए विभिन्न कंपनियों के नाम सामने आए थे। हालांकि तब मामला सुप्रीम कोर्ट, सरकार और ट्रस्ट के बीच फंसा हुआ था इसलिए अंतिम तौर पर नाम फाइनल नहीं हो सका था। अब इसकी औपचारिक तौर पर स्वीकृति कंपनी ने दे दी है।

दिल्ली: सियासी घमासान, भाजपा नेता ने कहा जिनके हाथ सिखों के नरसंहार से रंगे हों..

राम

कंपनी ने अपनी ओर से प्रस्ताव दिया है कि वह राम जन्मभूमि (Ram Janmabhoomi) पर मंदिर निर्माण का कांटैक्ट नहीं लेगी बल्कि सेवाभाव से कार्य करना चाहती है। नब्बे के दशक में जब राम मंदिर आन्दोलन अपने चरम अवस्था में था, उस समय तत्कालीन विहिप सुप्रीमो अशोक सिंहल ने कंपनी के प्रबंधन से मुलाकात कर मंदिर निर्माण कराने में सहयोग मांगा था। ट्रस्ट महासचिव श्री राय के मुताबिक कंपनी प्रबंधन अपने उसी वायदे को पूरा करना चाहता है।

ये भी पढ़े: SC ने कहा कि सार्वजनिक सड़क प्रदर्शन के लिए नहीं, शाहीन बाग पर टली सुनवाई

राम

वहीं रामजन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट ने राम जन्मभूमि (Ram Janmabhoomi) में विराजमान रामलला का स्थान परिवर्तन वासंतिक नवरात्र से पहले ही करने का मन बना लिया है। ट्रस्ट के न्यासी इसे एक उपलब्धि मानते हैं क्योंकि विराजमान रामलला के स्थान से ही निर्माण का शुभारम्भ होना है। यह निर्माण तभी प्रारम्भ हो सकेगा जब रामलला को नियत स्थान पर विधि विधान के साथ प्रतिष्ठित कर दिया जाए। इसी के चलते रामजन्मभूमि परिसर में नियत स्थल पर युद्धस्तर पर कार्य कराया जा रहा है। यह कार्य रामजन्मभूमि परिसर के सुरक्षा अधिकारियों की देखरेख एवं नवगठित ट्रस्ट के न्यासी अयोध्या नरेश विमलेन्द्र मोहन प्रताप मिश्र एवं संघ के प्रांत कार्यवाह डॉ. अनिल मिश्र के निर्देशन में चल रहा है।

ये भी पढ़े: कपिल मिश्रा का ट्वीट, जिन्होंने कभी अफ़ज़ल गुरु तक को आतंकवादी नहीं माना, वो……

राम जन्मभूमि (Ram Janmabhoomi) तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट जल्द ही अयोध्या में अपना कार्यालय खोलने जा रहा है। यह कार्यालय रामजन्मभूमि परिसर के निकट ही स्थित सुंदर भवन में खोला जाएगा। ट्रस्ट के पदाधिकारियों ने आसपास के क्षेत्र का सर्वे करने के बाद इसी स्थान को उपयुक्त माना है। इस सम्बन्ध में मंदिर प्रबंधन से वार्ता की जिम्मेदारी ट्रस्ट की ओर से न्यासी व संघ के प्रांत कार्यवाह डॉ. अनिल मिश्र को सौंपी गई है। सुंदर भवन बहराइच स्टेट का मंदिर है जिसका निर्माण महारानी सुंदरी देवी ने कराने के उपरांत अपने ही गुरु को मंदिर दान कर दिया था।

सब्सक्राइब करे –

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...