कुर्बानी के जानवरों को रात में न लाकर सुबह के वक्त लाएं

ईद-उल-अजहा को लेकर दरगाह में बैठक

गोरखपुर । ईद-उल-अजहा पर्व को लेकर नार्मल स्थित दरगाह हजरत मुबारक खां शहीद परिसर में इमामचौक मुतवल्ली एक्शन कमेटी के बैनर तले गुरुवार को बैठक हुई। अध्यक्षता अब्दुल्लाह ने की।

मुख्य अतिथि एडीएम सिटी राकेश कुमार श्रीवास्तव ने कहा कि ईद-उल-अजहा पर्व को शांतिपूर्ण ढंग से मनाकर भाईचारे का संदेश दें। कुर्बानी चिन्हित स्थानों पर ही करें। ताकि किसी को किसी प्रकार का व्यवधान न उत्पन्न होने पाये। सीमावर्ती क्षेत्रों से आने वाले जानवरों को रात में न लाकर सुबह के वक्त लाएं। जिससे जानवर लाने वाले व्यापारियों के साथ किसी प्रकार की अभद्रता न होने पाए।

विशिष्ट अतिथि सीओ कोतवाली वीपी सिंह ने कहा कि ईद-उल-अजहा पर्व को परम्परागत ढंग से मनाये जाने की छूट है। इसमें कोई नई परम्परा की शुरूआत नहीं होनी चाहिए। प्रशासन पर्व को शांतिपूर्ण माहौल में मनाने के पक्ष में है। यदि किसी प्रकार की कोई समस्याएं उत्पन्न होती है तो इसकी सूचना प्रशासन को दें।

कमेटी के संरक्षक खैरुल बशर ने कहा कि ईद-उल-अजहा को हम लोग रवायत के मुताबिक ही मनाते हैं। इसमें किसी प्रकार की कोई नई परम्परा नहीं है। उन्होंने कहा कि कुर्बानी करने वाले हजरात कुर्बानी के अवशेष को इधर-उधर न फेंके।

दरगाह कमेटी के अध्यक्ष इकरार अहमद ने कहा कि कुर्बानी के दिन अपने आस-पास गन्दगी न होने दें। साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दें। जिससे किसी को असुविधा न हो।

बैठक को शहाब अंसारी, मंजूर आलम, अमीरूद्दीन अंसारी, उजैर अहमद, शमीम अहमद, फिरोज अहमद गब्बर, तहव्वर हुसैन, गिरिजेश तिवारी, हाजी कलीम अहमद फरजन्द, डा0 सुधाकर पाण्डेय, डा0 के शर्मा, अचिन्त लाहिड़ी, चौधरी हाजी रहमतुल्लाह कुरैशी, वसीम अंसारी, आफताब अहमद, आबिद अली, एम.सेराज सलमानी, शमशीर आलम शेरू, शमशाद आलम, शकील अहमद अंसारी, मोमिन अली सिद्दीकी, अरुण सिंह, सरदार जसपाल सिंह, कारी जमील अहमद, जब्बार अहमद सहित तमाम लोग मौजूद रहे। संचालन मुर्तुजा रहमानी ने किया।

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...