BJP नेताओं की पत्नियां को डर है कि कहीं पीएम मोदी उन्हें भी अपनी पत्नी की तरह अपने पतियों से अलग ना करवा दें – मायावती

प्रधानमंत्री कैसे किसी की बहन और पत्नियों की इज्जत कर सकते हैं, जब राजनीतिक फायदे के लिए उन्होंने अपने पत्नी को ही छोड़ दिया- मायावती

दिल्ली: बहुजन समाज पार्टी की प्रमुख मायावती ने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर कड़ा प्रहार किया है मायावती ने कहा कि भाजपा की महिला नेता उनके पतियों के पीएम मोदी से करीबी से घबराती हैं। उनका कहना है कि उन महिलाओं को डर है कि कहीं पीएम मोदी उन्हें भी अपनी पत्नी की तरह अपने पतियों से अलग ना करवा दें।

एक न्यूज एजेंसी के मुताबिक मायावती ने कहा, ‘मुझे तो यह भी मालूम चला है कि भाजपा में खासकर विवाहित महिलाएं अपने आदमियों को प्रधानमंत्री के नजदीक जाते देखकर, यह सोच कर भी काफी ज्यादा घबराती रहती हैं कि कहीं ये मोदी अपनी औरत की तरह हमें भी अपने पति से अलग ना करवा दे।

ये भी पढ़े:आजाद भारत का पहला आतंकी एक हिंदू था – कमल हासन

साथ ही मायावती ने ये भी कहा की ‘नरेंद्र मोदी ने अलवर गैंगरेप मामले पर चुप्पी साधी हुई थी. वह इस मुद्दे पर गंदी राजनीतिक करने की कोशिश कर रहे हैं. यह बेहद शर्मनाक है. वह कैसे किसी की बहन और पत्नियों की इज्जत कर सकते हैं, जब राजनीतिक फायदे के लिए उन्होंने अपने पत्नी को ही छोड़ दिया।

गौरतलब है की मायावती ने रविवार को कहा था कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने नया चुनावी शिगूफा छोडा है कि उनकी जाति वही है, जो गरीब की जाति है। मायावती ने कहा, प्रधानमंत्री मोदी ने अब लोगों को वरगलाने के लिए कल से एक नया चुनावी शिगुफा छोड़ा है कि उनकी जाति वही है जो गरीब की जाति है।

मायावती ने टवीट कर कहा, ”चुनावी स्वार्थ हेतु मोदी न जाने क्या-क्या छल करेंगे लेकिन 5 साल तक करोड़ों गरीबों, मजदूरों, किसानों आदि की दुर्दशा के लिए जनता उन्हें कैसे माफ कर सकती है?’ बता दें, मोदी ने अपनी चुनावी जनसभाओं में कहा है,मैं अति पिछड़ी जाति में पैदा हुआ लेकिन देश को दुनिया में सबसे आगे ले जाने के लिये जी-जान से जुटा हुआ हूं.’ उन्होंने कहा, जो लोग मोदी की जाति जानना चाहते हैं, वे कान खोलकर सुन लें। मोदी की एक ही जाति है गरीब। ये लोग मोदी का नहीं, बल्कि गरीबी की जाति का सर्टिफिकेट मांग रहे हैं।

ये भी पढ़े:मोदी बोलते है तो इमरान के पसीने छूटते है – योगी

आपको बता दे मायावती ने भाजपा और कांग्रेस पर देश की समस्याओं का समाधान करने में विफल रहने का आरोप लगाते हुए रविवार को लोगों से लोकसभा चुनाव में इन दोनों पार्टियों को हराने की अपील की थी। मायावती ने एक चुनावी रैली को संबोधित करते हुए गरीबों और दलितों के लिए उचित तरीके से आरक्षण नीति लागू करने में ‘विफल’ होने के लिए कांग्रेस पर निशाना साधा था।

मायावती ने कहा की ‘आजादी के बाद लंबे समय तक देश में शासन करने वाली कांग्रेस गरीबी और बेरोजगारी की मुख्य समस्याओं का समाधान नहीं कर सकी। इसके अलावा वह गरीबों और दलितों के लिए आरक्षण नीति को समुचित ढंग से लागू करने में विफल रही है जिसके परिणामस्वरूप इन वर्गों को लाभ से वंचित कर दिया गया.’साथ ही मायवती ने केंद्र सरकार पर भी निशाना साधा और कहा की दलितों को वोट बैंक के लिए इस्तेमाल किया जा रहा है।

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...