पुलिस को मिले सुराग,लखनऊ में हुई हिंसा में बांग्लादेशियों के होने की जताई आशंका

SR दारापुरी

लखनऊ पुलिस को हिंसा के बाद पांच मोबाइल फोन मिले,जिनमें बांग्ला भाषा में संदेशों का आदान-प्रदान किया गया

गुरुवार को लखनऊ में एक वकील की मौत हो गई थी। आज वीडियोग्राफी में उसके शव का पोस्टमार्टम किया गया जाएगा। इसके अलावा संभल हिंसा में समाजवादी पार्टी के सांसद बर्क और सपा जिलाध्यक्ष समेत 17 पर केस दर्ज किया गया है। वहीं, पूरे उत्तर प्रदेश में धारा 144 लागू है। जबकि गाजियाबाद, लखनऊ, मुजफ्फरनगर, बरेली, आजमगढ़ समेत कई जिलों में इंटरनेट बंद कर दिया गया है। यूपी में निषेधज्ञा तोड़कर 102 स्थानों पर प्रदर्शन के बाद 3305 लोगों को हिरासत में लिया गया है। सीएम योगी ने कड़ी चेतावनी देते हुए कहा कि उपद्रवियों की सम्पत्ति नुकसान की भरपाई करेंगे।

ये भी पढ़े:लखनऊ:हिंसा के बाद राजधानी में अफवाहों का दौर जारी,अफवाहें फैलाने वाले जाएंगे जेल

बांग्लादेशियों

लखनऊ में हुई हिंसा में बांग्लादेशियों के सामने होने की आशंका जताई जा रही है। पुलिस को मिले सुराग तो यही इशारा कर रहे हैं। दरअसल, लखनऊ पुलिस को हिंसा के बाद पांच मोबाइल फोन मिले हैं। जिनमें बांग्ला भाषा में संदेशों का आदान-प्रदान किया गया है। अनुमान लगाया जा रहा है कि ये उपद्रवी बांग्लादेशी हैं। जो हिंसा फैलाने के मकसद से ही यहां इकट्ठा हुए थे। मामले की जांच की जा रही है।

ये भी पढ़े:बसपा सुप्रीमो ने किया ट्वीट,विरोध प्रदर्शन या धरने में हिंसा के लिए कोई जगह नहीं है

बता दें कि बृहस्पतिवार को लखनऊ में नागरिकता कानून के खिलाफ जबरदस्त विरोध प्रदर्शन हुआ। इस दौरान कई इलाकों में हिंसा भड़क उठी। दंगाइयों ने बस, कारें व दोपहिया वाहनों में आग लगाने के साथ ही पुलिस चौकियां जला डाली। एहतियात के तौर पर शनिवार दोपहर तक के लिए इंटरनेट बंद कर दिया गया है। मामले की जांच की जा रही है।बांग्लादेशियों

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में आज संभावित भारत बंद की आशंका के मद्देनजर इंटरनेट सेवाएं बृहस्पतिवार रात 12 बजे से बंद कर दी गईं। ये शुक्रवार शाम छह बजे तक बंद रहेंगी। वहीं शहर और देहात के संवेदनशील इलाकों में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है। विरोध के नाम पर हिंसा करने वालों के खिलाफ गैंगस्टर और रासुका की कार्रवाई की जाएगी।

ये भी पढ़े:Nirbhaya Case : आरोपी के चाचा ने कहा घटना के वक़्त पवन गुप्ता बालिग नहीं था

नागरिकता कानून को लेकर लखनऊ में हुए हिंसक प्रदर्शन के बाद कानपुर और उन्नाव में जियो ने इंटरनेट की सेवाएं बंद कर दी हैं। वही उन्नाव में नागरिकता कानून को लेकर जुमे की नमाज के प्रदर्शन की सुगबुगाहट पर प्रशासन अलर्ट हो गया है।