नवमी के दिन सीएम का कन्या पूजन व अनोखा अंदाज

सीएम का ये अनोखा कन्या प्रेम देख सभी भाव विभोर हो गए, और सीएम ने जिस सरल भाव से कन्याओं के पांव पखारे, उनके पैरों छुवा व चुनरी उठा कर उन्हें भोजन कराया, ये अद्भत नजारा साल में एक बार देखने को मिलता है

गोरखपुर 7 अक्टुबर- सीएम का कन्या प्रेम, सीएम का कन्या पूजन, अनोखे अंदाज में आज सीएम योगी आदित्यनाथ कन्याओं का पांव पखारते है, उन्हें पूजते है, उनका आशीर्वाद लेते है, और उन्ह सभी कन्याओं को भोजन भी कराते है।

गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने कन्याओं के पखारे पांव और तकरीबन 200 से अधिक कन्याओं को कराया भोज, कन्याओं ने कहा ‘महाराज जी से मिलकर बहुत अच्छा लगता है।

योगी ने कन्या पूजन कर नारियों के सम्मान और सुरक्षा का दिया संदेश, नारी पूजन हमारी परम्परा है, महानवमी के पावन पर्व पर मुख्यमंत्री और गोरक्षपीठाधीश्वर योगी आदित्यनाथ ने गोरखनाथ मंदिर में विधि-विधान के साथ कन्या पूजन कर इस परम्परा को नई ऊंचाइयां दीं, इसके साथ ही यह संदेश भी दिया, कि नारियों के सम्मान और सुरक्षा का यह क्रम उनकी सरकार में जारी रहेगा, कन्या पूजन के बाद वहां मौजूद पत्रकार वार्ता में मुख्यमंत्री ने नारियों के हित में केंद्र और प्रदेश सरकार द्वारा उठाए गए तमाम कदमों का जिक्र भी इसी उद्देश्य से किया ।

आपको बतादें, कि नारियों के सम्मान में गोरक्षपीठ में कन्या पूजन परम्परा रही है, गोरक्षपीठाधीश्वर के रूप में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस परम्परा को पूरे मनोयोग से निभाया, इस दौरान कन्याओं और योगी के चेहरे के भाव देखने वाला था, आसन पर बैठे योगी के सामने एक बड़ा परात (पीतल की बड़ी थाली) रखा था, जिसमें देवी स्वरूपा 9 कन्याएं और बटुक भैरव बारी-बारी से खड़े हुए, योगी ने पूरे श्रद्धापूर्वक सभी बच्चियों के पांव पखारे, उनके माथे पर तिलक लगाया, बनारसी चुनरी ओढ़ाई और मंत्रोच्चार के साथ उनकी आरती की, इसके साथ ही उन्होंने कन्याओं को दक्षिणा और वस्त्र भी भेंट किया ।

यहां इस कन्या पूजा में पहुची बच्चियों ने बताया, कि महाराज जी हमसे बहुत स्नेह करते है, हमें दक्षिणा और कपड़े इत्यादि भी देते हैं, बच्चों ने कहा कि उन्हें महाराज जी से मिलकर बहुत अच्छा लगता है, और आज योगी जी ने पहले हमारे पांव पखारे, फिर हमें चुनरी उठाई उसके बाद तिलक लगाकर हमे भोजन कराया, ये पल हमे बहुत अच्छा लगा, और महाराज जी से मिलकर बहुत खुशी हुई, सीएम योगी हर साल नवरात्रि में 9 दिनों का व्रत रखते हैं, वो पिछले 3 दिनों से गोरखपुर में हैं, और तब से परम्परानुसार मठ के पहली मंजिल पर पूजन-हवन और देवी की उपासना कर रहे हैं।

योगी मंगलवार को चार दिन बाद दशहरे के दिन मठ से नीचे उतरेंगे, इस क्रम में 9 बजे सुबह अन्य संतों एवं पुजारियों के साथ नाथ के विशिष्ट पूजन से अपने दिन की शुरुआत करेंगे, शाम 4 बजे वह अपने परम्परागत वेश-भूषा शोभायात्रा की शक्ल में मानसरोवर मंदिर के लिए प्रस्थान करेंगे, वहां पूजन अर्चन के बाद बगल के रामलीला मैदान में जाकर भगवान श्रीराम का तिलक कर मंदिर लौट आएंगे, कार्यक्रम का समापन देर रात तक चलने वाले सहभोज से होगा, नवरात्रि नारी शक्ति के प्रति सम्मान और सुरक्षा का पर्व है ।

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जल्दी खुशखबरी मिलने वाले बयान पर मुकरे. कहा अयोध्या में राम मंदिर के परिप्रेक्ष्य में बयान नहीं दिया था.  दीपावली पर देव दीपोत्सव सहित अन्य आयोजन होते चले आ रहे हैं. राम गन हमारे पूज्य हैं. उनकी रामलीला देश सहित विदेशों में होते हैं. इस बार देव दीपोत्सव से जुड़ें. ये हर किसी का त्योहार है. रामलीला के मंचन को भी देखें, माननीय उच्चतम न्यायालय के फैसले पर विश्वास है. जब बातचीत से हल नहीं निकल सकता है, तो सैकड़ों वर्षों से चले आ रहे विवाद का पटाक्षेप होना चाहिए, अराजकता का प्रतीक बन हुए लोगों से नकारात्मक तांडव करने वाले लोगों से सकारात्मक कार्यों का विश्वास नहीं किया जा सकता है ।

नारियों के सम्मान में गोरक्षपीठ में कन्या पूजन परम्परा रही है, गोरक्षपीठाधीश्वर के रूप में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने इस परम्परा को पूरे मनोयोग से निभाया

विपक्ष को गरीबी, शिक्षा, स्वास्थ्य से कोई मतलब नहीं, विधानमंडल सत्र का बहिष्कार करके विपक्ष ने गांधी जी और विकास का अपमान किया है।

सदन में मुंह दिखाने के लायक नहीं है विपक्ष, 7 अयोध्या पर विपक्ष को आड़े हाथों लेते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि विपक्ष सिर्फ नकारात्मक राजनीति करता है, उसे विकास और जनकल्याणकारी कार्यों से कोई लेना देना नहीं है, उन्होंने कहा, कि सैकड़ों वर्षों से चले आ रहे राम मंदिर विवाद को खत्म किया जाना चाहिए, इसके लिए न्यायालय लगातार सुनवाई कर रहा है, न्यायालय के फैसले का सभी सम्मान करेंगे ।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पूर्ववर्ती सरकारों के कार्यकाल में अयोध्या में परम्पराओं को खत्म कर दिया गया था, अब अयोध्या में विदेशों से आये लोगों द्वारा रामलीला का मंचन किया जाता है, कई देशों के प्रतिनिधि इस कार्यक्रम में शिरकत करते हैं।

हमारी सरकार पिछली बार की तरह इस बार भी वहां भव्य दीपोत्सव का कार्यक्रम आयोजित कर रही है, अबकी बार सरयू नदी के तट पर साढ़े 5 लाख से भी अधिक दीपों को जलाकर दीपावली का पर्व मनाया जाएगा।

सीएम का ये अनोखा कन्या प्रेम देख सभी भाव विभोर हो गए, और सीएम ने जिस सरल भाव से कन्याओं के पांव पखारे, उनके पैरों छुवा व चुनरी उठा कर उन्हें भोजन कराया, ये अद्भत नजारा साल में एक बार देखने को मिलता है, जब सीएम कन्या पूजन में जाते है, सीएम के हाथों इतना स्नेह पाकर कन्याए भी खुश हो जाती है ।

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...