बेटी की करुणामयी गुहार- घर आ जाओ ना पापा…प्लीज… प्लीज… प्लीज…

10 साल की उन्नति ने रूठे पिता को मनाने के लिए लिखी चिट्ठी

गोरखपुर। महज 10 साल की एक बालिका की सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है चिट्ठी पढ़कर आंखें भर जा रही हैं। बालिका के पापा को उसके दादा ने डांट पिला दी जिससे नाराज होकर वह घर से चले गए हैं। बालिका ने सोशल मीडिया पर चिट्ठी लिखकर पापा को घर आने की गुहार लगाई है। साथ ही आम-अवाम से गुहार लगाई है कि यदि उसके पापा कहीं मिलें तो उन्हें उसकी चिट्ठी जरूर पढ़ाएं।

सोशल मीडिया पर वायरल हुई चिट्ठी पढ़कर भर जा रही हैं ऑखें

बालिका ने चिट्ठी में अपने पापा से घर लौटने की गुजारिश की है। उसकी मार्मिक बात सुन आंखें भर आ रही हैं…दादाजी ने आपको अगर डाँटे भी…. तो उनकी तो ये रोज की आदत है…. बुरा तो हमें भी लगता है उनका डाँटना…. मगर फिर सोचते हैं कि जैसे आप हमारे पापा हैं….वे भी तो आपके पापा हैं….।

उन्नति ने लिखी पिता के नाम ये चिट्ठी 

मेरा नाम उन्नति (10 वर्ष) और मेरे भाई का नाम उत्कर्ष (5 वर्ष) है।
मेरी मम्मी का नाम पूनम (गुड़िया)….है! हम लोग सिकरीगंज (गोरखपुर) के रहने वाले हैं।
मेरे दादा जी का नाम श्री लालजी जायसवाल है!
मेरे पापा का नाम अनिल कुमार जायसवाल है… जिनका फोटो भेज रही हूँ….. मेरे पापा कहीं दिख जाएं तो उन्हें मेरी चिट्ठी जरूर पढ़ा दीजिएगा….और उन्हें घर भेजने में उनकी मदद कर दीजिएगा…!
पापा….!
आप बिना बताए कहाँ चले गए… आज तीन दिन हो गए…. मम्मी का रोते-रोते बुरा हाल है… हम भी रो लेते हैं मगर छुप के…. ताकि मम्मी न देख ले… वरना और रोने लगेगी….
अब आ भी जाओ ना पापा….!
दादाजी ने आपको अगर डाँटे भी…. तो उनकी तो ये रोज की आदत है…. बुरा तो हमें भी लगता है उनका डाँटना…. मगर फिर सोचते हैं कि जैसे आप हमारे पापा हैं….वे भी तो आपके पापा हैं…. अब हमारी और मम्मी की इसमें क्या गलती है…हमें छोड़कर आप क्यूँ चले गये…. ?
आ जाओ ना पापा….
प्लीज… प्लीज…. प्लीज….
आपके इंतजार में….
आपकी…
उन्नति….. उत्कर्ष
9455564365
7275402394