उपमुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक खुद गाड़ी चलाकर पहुंचे DDU अस्पताल, सुविधाओं की हकीकत का लिया जायजा

उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक

प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र वाराणसी दौरे पर पहुंचे उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक (Deputy Chief Minister Brajesh Pathak), दीनदयाल उपाध्याय (DDU) जिला अस्पताल में लिया हकीकत का जायजा

वाराणसी। प्रधानमंत्री के संसदीय क्षेत्र में दौरे पर पहुंचे उप मुख्यमंत्री व स्वास्थ्य मंत्री ब्रजेश पाठक (Deputy Chief Minister Brajesh Pathak) शनिवार सुबह फिल्म नायक के अनिल कपूर के अंदाज में दिखे। खुद ही गाड़ी चला कर दीनदयाल उपाध्याय जिला अस्पताल (Deendayal Upadhyay District Hospital) पहुंच गए। वहां पहुंचते ही स्वास्थ्य विभाग में अफरा तफरी का माहौल व्याप्त हो गया। वहीं रजिस्ट्रेशन काउंटर से लेकर इमरजेंसी वार्ड सहित अन्य जगहों पर घूमकर मरीजों के इलाज की सुविधाओं की हकीकत को जाना व परखा।

Deendayal Upadhyay District Hospital के सीएमएस के कमरे में पहुंचकर स्वास्थ्य मंत्री और प्रदेश के डिप्टी सीएम ब्रजेश पाठक (Deputy Chief Minister Brajesh Pathak) ने चिकित्सकों और पैरामेडिकल स्टाफ की उपस्थिति रजिस्टर की जांच की। इस दौरान छुट्टी पर रहने वालों के बारे में सीएमएस से स्पष्टीकरण तलब किया।

उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक

इसके साथ ही ऑक्सीजन प्लांट (oxygen plant) और मरीजों के जांच, इलाज की व्यवस्थाओं के बारे में पूरी जानकारी ली। अस्पताल परिसर स्थित ट्रॉमा सेंटर (trauma center) में डिजिटल एक्सरे को देखने के लिए डिप्टी सीएम ने जब एक्सरे कक्ष को देखने की इच्छा जताई तो पता चला कि ताला बंद है। करीब 10 मिनट तक वह चाबी आने का इंतजार करते रहे। जब चाबी नहीं मिली तो नाराज होकर वापस लौट गए।

ये भी पढ़े : बजट फ्रेंडली(NainitalTrip) नैनीताल ट्रिप जो दो से चार दिनों के घूमने लिए बेहद हसीन

डेंटल विभाग में मशीन पर धूल देख काफी नाराजगी व्यक्त की और डाक्टर को चेतावनी दी। ओपीडी का निरीक्षण करने के दौरान डाक्टर्स से वार्ता कर रहे मरीजों से बातचीत की।

उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक

इसके बाद ट्रामा सेंटर में मरीजों से बात करते हुए दो वर्ष पहले से ही बंद पड़े ओपीडी के बंद होने पर नाराजगी जताई। डिजिटल एक्स-रे कक्ष में ताला बंद होने पर सीएमएस को कड़ी फटकार लगाई। जन औषधि केंद्र में दवाओं के बारे में जानकारी ली। इसके बाद सीएमएस डा. आर के सिंह को अस्पताल में सुधार लाने की सलाह देने के साथ आगे बड़ी कार्रवाई की अंतिम चेतावनी दी।

उप मुख्यमंत्री ब्रजेश पाठक

स्वास्थ्य मंत्री ब्रजेश पाठक ने अस्पताल के शौचालय में गंदगी देखकर काफी नाराज हुए। इसके अलावा ब्लड बैंक, पैथोलॉजी, एक्सरे, ओपीडी, फिजियोथैरेपी समेत तमाम विभागों की जानकारी ली। निरीक्षण के दौरान बाहर की दवा लिखने की शिकायत पर मुख्य चिकित्सा अधीक्षक को हिदायत दी कि व्यवस्था सुधार लें अन्यथा कार्यवाही के लिए तैयार रहे। जन औषधि केंद्र पर मिलने वाली दवाओं को नहीं लिखने पर अस्पताल प्रशासन को चेतावनी दी।

वीडियो में खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Click Here & Download Now The Lucknow Meat Wala App