DR हर्षवर्धन बोले कोरोना वायरस से डरने की जरुरत नहीं, भारत में दवा का पर्याप्त भंडार

DR हर्षवर्धन

DR हर्षवर्धन ने जापान के समुद्र तट पर एक जहाज में मौजूद भारतीय नागरिकों की वापसी के सवाल पर बताया कि उक्त जहाज में 439 यात्री मौजूद हैं, इनमें 138 भारतीय भी शामिल हैं

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री डॉक्टर हर्षवर्धन (Health Minister of India) ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया हैं, कि कोरोना वायरस से डरने की जरुरत नहीं है। साथ ही उन्होंने बताया कि देश में दवाओं की कोई कमी नहीं है। भारत, दवाओं के लिए चीन पर निर्भर नहीं है। स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि देश में 21 हवाई अड्डों पर यात्रियों की अनिवार्य स्क्रीनिंग प्रक्रिया के तहत अब तक 2315 उड़ानों से आये 2,51,447 यात्रियों की अब तक जांच की गयी।

ये भी पढ़े:मर्दाना ताकत की मेडिसिन बेचने वाला गैंग लखनऊ पुलिस की गिरफ्त में

DR हर्षवर्धन

हवाईअड्डों के अलावा चीन से संपर्क वाले 77 छोटे बड़े बंदरगाहों पर भी यात्रियों की स्क्रीनिंग की जा रही है।हर्षवर्धन ने कहा कि कोरोना वायरस (China Coronavirus) के सेंपल टेस्ट के लिए देश भर में कार्यरत 15 प्रयोगशालाओं में अब तक 1756 सैंपल परीक्षण किये गये। इनमें सिर्फ तीन सैंपल में कोरोना वायरस की पुष्टि हुयी है और 26 सेंपल की रिपोर्ट अभी आना बाकी है।

भारत में दवाओं के लिये कच्चे माल की चीन से आपूर्ति, कोरोना वायरस के कारण प्रभावित होने के कारण देश में दवाओं की कमी के सवाल पर डा. हर्षवर्धन ने कहा कि मंत्री समूह की बैठक में इस विषय पर चर्चा हुयी। उन्होंने बताया कि रासायनिक उर्वरक राज्य मंत्री मनसुख लाल मांडविया ने आश्वस्त किया है कि देश में तीन महीने का दवाओं का पर्याप्त भंडार सुरक्षित है।DR हर्षवर्धन

उन्होंने कहा, अगले कुछ महीनों में चीन में हालात सामान्य नहीं होने पर भी भारत में दवाओं की आपूर्ति के लिये चिंता की कोई बात नहीं है। सरकार ने स्थिति से जुड़े सभी पहलुओं को ध्यान में रखते हुये पर्याप्त वैकल्पिक इंतजाम कर लिये हैं।

हर्षवर्धन ने सरकार को अन्य देशों से प्राप्त जानकारी के हवाले से बताया कि चीन सहित 28 देशों में कोरोना वायरस की पहुंच हो गयी है। चीन में अब तक 48,206 लोगों में संक्रमण पाये जाने और 1310 की मौत हो गयी है। चीन से बाहर 27 देशों में कुल 570 मामलों में कोरोना वायरस की पुष्टि हुयी और दो लोगों की मौत हुयी है।

ये भी पढ़े:राहुल गांधी ने ट्वीट कर मोदी सरकार से पूछे पुलवामा हमले पर 3 बड़े सवाल

केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्री की अध्यक्षता में गठित मंत्रियों के समूह की दूसरी बैठक के बाद डा. हर्षवर्धन ने बताया कि पूरे देश में कुल 15991 लोग निगरानी के दायरे में हैं। इनमें से 497 लागों में जुकाम और बुखार के लक्षण पाये जाने पर इन्हें चिकित्सा सुविधा मुहैया करायी गयी, जबकि 41 लोगों में संक्रमण के शुरुआती लक्षण पाये जाने पर पृथक चिकित्सा निगरानी केन्द्र (आईसोलेशन सेंटर) में रखा गया है।DR हर्षवर्धन

उन्होंने स्पष्ट किया कि ये लोग हाल ही में चीन के वुहान से भारत लाये गये 652 लोगों से अलग हैं। उन्होंने बताया कि चीन से भारत आये लोगों में 645 भारतीय और सात मालदीव के नागरिक हैं। इन्हें दिल्ली एनसीआर क्षेत्र में छावला और मानेसर स्थित आइसोलेशन केन्द्रों में रखा गया है।हर्षवर्धन ने जापान के समुद्र तट पर एक जहाज में मौजूद भारतीय नागरिकों की वापसी के सवाल पर बताया कि उक्त जहाज में 439 यात्री मौजूद हैं। इनमें 138 भारतीय भी शामिल हैं।

ये भी पढ़े:ऑस्ट्रेलिया खिलाड़ी माइकल क्लार्क का हुआ तलाक, एलिमनी में दिए 40 मिलियन डॉलर

उन्होंने कहा कि जापान स्थित भारतीय दूतावास जापान सरकार के साथ लगातार संपर्क में है। जापान सरकार ने सूचित किया है कि जहाज पर आइसोलेशन के इंतजाम कर कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने और संक्रमित पाये गये मरीजों के इलाज आदि के इंतजाम किये गये हैं।

ये भी पढ़े:शहीद पंकज की शहादत को 1 साल पूरा होने के बाद भी नहीं मिली कोई आर्थिक मदद

उन्होंने बताया कि विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के मानकों के मुताबिक जापान सरकार ने इस स्थिति से निपटने के लिये प्रोटोकॉल बनाया है। इसके तहत सभी यात्रियों और 174 संक्रमित मरीजों को प्रोटोकॉल के तहत स्वास्थ्य सुविधायें मुहैया करायी जा रही हैं। स्वास्थ्य मंत्री ने कहा कि जापान सरकार से मंजूरी मिलने के बाद ही भारतीय यात्रियों की स्वदेश वापसी हो सकेगी।

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...