बीआरडी गैस कांड के आरोप से मुक्त हुए डॉ कफील खान

सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक अस्पताल में बच्चो की मौत में वह जिम्मेदार नही है, और उन्होंने बच्चो की जान बचाने के लिए तमाम प्रयास किये थे 

गोरखपुर । दोषमुक्त हुए डॉ कफील, गैस कांड मामले से मुक्त हुए कफील जी हां, बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर के डाक्टर कफिल खान जिन आरोपो में सस्पेंड है, और उन्हें 9 महीने जेल की सजा काटनी पड़ी, उन आरोपो से अब उन्हें मुक्त कर दिया गया है, सरकारी रिपोर्ट के मुताबिक अस्पताल में बच्चो की मौत में वह जिम्मेदार नही है, और उन्होंने बच्चो की जान बचाने के लिए तमाम प्रयास किये थे ।

बीआरडी मेडिकल कॉलेज गोरखपुर के निलंबित शिशु रोग विशेषज्ञ डॉक्टर कफील खान विभागीय जांच में निर्दोष पाए गए हैं, उन्हें दो साल पहले लापरवाही, भ्रष्टाचार और अस्पताल में 60 बच्चों की मौत के दिन ठीक से काम नहीं करने के आरोप में सस्पेंड किया गया था, आज डॉक्टर कफील को रिपोर्ट में तमाम आरोपों से मुक्त कर दिया गया है, और इसकी एक कॉपी उन्हें भेज दी गई है, इससे पहले डॉक्टर कफील खान इन्हीं आरोपों में 9 महीने की जेल की सजा भी काट चुके हैं, हालांकि कफील खान के निलंबन को अभी खत्म नहीं किया गया है, डॉक्टर कफील ने इस मामले में सीबीआई जांच की मांग की है ।

क्या कहा गया है, रिपोर्ट में स्टाम्प और रजिस्ट्रेशन डिपार्टमेंट के प्रिंसिपल सेक्रेटरी ने इस मामले की जांच रिपोर्ट इस साल 18 अप्रैल को सौंप दी थी, 15 पेज की रिपोर्ट में डॉक्टर कफील खान को ड्यूटी में लापरवाही बरतने का आरोपी नहीं पाया गया है, रिपोर्ट के मुताबिक 10 और 11 अगस्त की रात को अस्पताल में बच्चों की जान बचाने के लिए उन्होंने तमाम उपाए किए थे, आपको बतादें, कि बीआरडी अस्पताल में अगस्त के महीने में ऑक्सिजन की कमी हो गई थी, हालाकि रिपोर्ट में कहा गया है, कि डॉ कफील साल 2016 तक प्राइवेट प्रैक्टिस से जुड़े थे, लेकिन इसके बाद उन्होंने ये छोड़ दिया था ।

जैसे ही आज ये खबर डॉ कफील खान के घर वालो को मिली इनके खुशी का ठिकाना न रहा, और आज पूरा परिवार खुश है, और प्रमुख सचिव को धन्यवाद दे रहा है, क्योकि रक बड़ा और बुरा सपने से आज ये लोग जग गए है।

गैस कांड और उसमे आरोपियों के नाम से कोई अक्षुता नही है, विदेशों तक इस मामले की चर्चा थी, काफी जद्दो जहद के बाद अब डॉ कफील के ऊपर लगे सभी आरोप निराधार मिले, जिसके बाद प्रमुख सचिव ने डॉ कफील को क्लीन चिट दे दिया, और आज पूरा परिवार खुश है।