गर्मियों में शरीर को स्वस्थ रखने के लिए खाये पौष्टिक दाल (Nutritious Pulses)

Nutritious Pulses

गर्मियों में अपने शरीर को स्वस्थ रखने के लिए काफी ध्यान देना पड़ता है, क्या खाये क्या ना खाये इसका विशेष ध्यान देना पड़ता है। ऐसे में अगर हम पौष्टिक दाल (Nutritious Pulses) का चयन करे तो हमारे लिए काफी सेहतमंद होगी।

गर्मियों के मौसम में लोग अपने खाने पीने को लेकर काफी परेशान रहते हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि यही मौसम है, जिसमें खाने-पीने को लेकर बरती गई थोड़ी सी भी लापरवाही व्यक्ति को बीमार बना सकती है। इस मौसम में लोग दुविधा में रहते है की अपनी डाइट में ऐसी कौन सी चीजें शामिल करें जो हम खाये हमें नुकसान भी ना करे और हमारे लिए पौष्टिक भी हो। जो हमारे शरीर को हर तरीके से पौष्टिक हो। तपती गर्मी में अगर हम अपने खाने में पौष्टिक दाल (Nutritious Pulses) को शामिल कर ले तो हमारे लिए काफी हितकर होगा। अब ऐसे में हमें जानना आवश्यक है की हम कौन सी दाल का सेवन करे ,जिससे हम स्वस्थ गर्मी में रह सके। दाल सेहत के लिए बहुत फायदेमंद मानी जाती है, फिर चाहे आप जिस भी दाल का सेवन करें. दाल को प्रोटीन का सबसे अच्छा सोर्स माना जाता है, जो वेजिटेरियन की डाइट में जरूर शामिल होना चाहिए। लाभकारी गुणों की वजह से ही पौष्टिक दाल (Nutritious Pulses) का अधि‍क से अधि‍क सेवन करने की सलाह दी जाती है।

ये भी पढ़े: बीएसए अमेठी की बड़ी कार्यवाही, 797 विद्यालयों के स्टॉफ व 2 बीईओ का रोका वेतन

गर्मियों में करें इन दालों का सेवन –

मूंग दाल (Skinned Dal)

मूंग की दाल को अन्य दालों से ज्यादा फायदेमंद माना जाता है. मूंग दाल में कॉपर, फोलेट, राइबोफ्लेविन, विटामिन, विटामिन सी, फाइबर, पोटैशियम, फॉस्फोरस, मैग्नीशियम, आयरन, विटामिन बी -6, नियासिन, थायमिन पाया जाता है। फाइबर आंतों से गंदगी को बाहर निकालने में मदद करता है और इम्यूनिटी को मजबूत बनाने का भी काम करता है। मूंग की दाल को आप अपनी डाइट में कई तरह से शामिल कर सकते हैं। मूंग की दाल शरीर की कमजोरी को दूर करने और एनर्जी को बूस्ट करने में मदद करता है। शरीर में कोलेस्ट्रॉल बढ़ने पर मूंग दाल का सेवन हितकर माना जाता है।

चने की दाल (Horse Gram)

शरीर के स्वस्थ रहने के लिए हड्डियों का स्वस्थ रहना बहुत आवश्यक है। हालांकि उम्र के साथ हड्डियां कमजोर होने लगती हैं, लेकिन अगर आप नियमित आहार में चने की दाल का सेवन करते हैं तो यह बूढ़ी हड्डियों में भी जान दाल देती है। आपको बता दे की चने की दाल में पोटैशियम, कैल्शियम और मैग्नीशियम भरपूर मात्रा में होता हैं ,और ये तीनों ही पोषक तत्व हड्डियों को मजबूत बनाने और उसे स्वस्थ रखने में मदद करते हैं। इसके अलावा चने की दाल आपके शरीर में आयरन की कमी को पूरा करके हीमोग्लोबिन का स्तर बढ़ाने में सहायक है। चने की दाल को आप लौकी, चना दाल, चने की दाल के फरे आदि जैसी चीजों को बनाकर अपने डाइट में शामिल कर सकते हैं।

उड़द की दाल (Black Gram)

उड़द की दाल में विटामिंस, मिनरल्स और प्रोटीन पर्याप्त मात्रा में पाए जाते हैं। उड़द की दाल की तासीर ठंडी होती है, इसलिए आप गर्मियों में इस दाल का सेवन आसानी से कर सकते हैं। उड़द की दाल पाचन और हृदय स्वास्थ्य को भी स्वस्थ रखने में लाभकारी है। लेकिन गठिया, दमा के रोगियों को उड़द की दाल का सेवन कम ही करना चाहिए। उड़द का जूस बनाकर 10-20 मिली की मात्रा में सेवन करने से लीवर की बीमारियों से राहत मिलती है। अक्सर उम्र बढ़ने के साथ जोड़ों में दर्द होने की परेशानी शुरू हो जाती है लेकिन उड़द दाल का सेवन करने से इससे आराम मिलता है।

सोयाबीन की दाल (Black eyed Beans)

सोयाबीन की दाल प्रोटीन से भरपूर दालों में से एक है। सोयाबीन में प्रोटीन सबसे अधिक मात्रा में होता है। इसलिए आपको अपनी डाइट में सोयाबीन को जरूर ले । गर्मियों में सोयाबीन की दाल खाना काफी लाभकारी होती है। इससे शरीर का तापमान भी स्थिर रहता है।सोयाबीन की दाल खाने से शरीर को पर्याप्त प्रोटीन, ऊर्जा, कैल्शियम और पैटोशियम मिलता है। सोयाबीन की दाल हृदय स्वास्थ्य के लिए भी लाभकारी होती है। सोयाबीन , रक्तचाप और कोलेस्ट्रॉल को भी नियंत्रित रखती है। सोयाबीन में कैल्शियम होता है, जो हड्डियों को मजबूत बनाता है।

वीडियो में खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Click Here & Download Now The Lucknow Meat Wala