सरकार बदली, निजाम बदला, नहीं बदले सूबे के हालात – प्रशासन की अनदेखी के चलते हज़ारो लोग नरकीय जीवन जीने को मजबूर

मुख्यमंत्री से लेकर सांसद तक व प्रशासनिक अधिकारियों को दी एप्लीकेशन हुई बेकार, किसी ने नही की सुनवाई

मथुरा। सरकार बदली, निजाम बदला, नहीं बदले सूबे के हालात, ताजा मामला हाईवे प्लाजा के सामने हंसराज कॉलोनी का है मुख्यमंत्री से लेकर सांसद तक व प्रशासनिक अधिकारियों को दी एप्लीकेशन हुई बेकार। किसी ने ना की सुनवाई 3 वर्ष से हैं हंसराज कॉलोनी निवासी परेशान। आपको बता दें जहां एक ओर प्रधानमंत्री मोदी स्वच्छ भारत अभियान की बात कर रहे हैं वही मुख्यमंत्री योगी गड्ढा मुक्त सड़कों की बात कर रहे हैं वहीं उनकी अधिकारी उनकी मंशा के अनुरूप कार्य करते नजर नहीं दिख रहे हैं।

ताजा मामला आसाराम, विकास नगर, इंद्रपुरी, शांतिकुंज, हंसराज नगर, गंगा पुरम एवं तुलसी नगर आदि कालोनियों के संपर्क मार्ग का है जिसकी लंबाई लगभग डेढ़ किलोमीटर है एवं उपरोक्त कालोनियों में जल निकासी का कोई भी व्यवस्था नहीं है उपरोक्त मांग पूरी तरह से गड्ढों में तब्दील होकर कीचड़ एवं पानी से भरा हुआ है इसके कारण यहां के निवासी नरकीय जीवन जीने को मजबूर हैं तथा इस मार्ग पर प्राइमरी पाठशाला भी स्थित है। बच्चों को आने जाने में काफी परेशानी का सामना करना पड़ता है बीमार मरीज को इलाज के लिए लाने ले जाने में भी ख़राब मार्ग के कारण परेशानी का सामना करना पड़ रहा है।

3 वर्ष से नेता और अधिकारियों के चक्कर काट कर कॉलोनीवासी परेशान हैं लेकिन उनकी समस्या का समाधान नहीं हो रहा है। कॉलोनी-वासियों ने बताया कि यह मंत्री श्रीकांत शर्मा का क्षेत्र है हजारों लोग नरकीय जीवन जीने को मजबूर हैं लेकिन मंत्री जी ने कभी भी क्षेत्र की तरफ पलट कर नहीं देखा उन्होंने मुख्यमंत्री से गुहार लगाते हुए अपनी समस्या के हल की बात कही है देखना होगा चैनल पर खबर चलने के बाद प्रशासन इस मामले में संज्ञान क्या लेता है।