गैंगरेप पीड़िता के भाई को अधमरा कर रेलवे ट्रैक पर फेंका, चार पर केस

100 से ज्यादा महिलाएं और पुरुषों ने थाने का घेराव कर आक्रोश जताया था

गोरखपुर। चौरीचौरा क्षेत्र के एक गांव में 6 जून की रात हुई गैंगरेप की घटना में सुलह के लिए दबाव को लेकर बीती रात में पीड़िता के भाई को आरोपी पक्ष ने बेरहमी से पीटकर रैलवे ट्रैक पर फेंक दिया। उसकी माँ के तहरीर पर पुलिस ने मुमताज, जब्बार खान, संदीप व सुनील के खिलाफ 308 व 323 के तहत केस दर्ज कर तलाश शुरू कर दी।

गैंगरेप पीड़िता की माँ ने तहरीर दिया बीती रात 9 बजे उसके बेटे को बेरहमी से पीटकर उसे चौरीचौरा रेलवे स्टेशन के पास रेलवे ट्रैक पर फेंक दिया गया था। उसने गैंगरेप आरोपी के भाई मुमताज, जब्बार खान के अलावा संदीप व नाम पता अज्ञात सुनील के दामाद पर मारने पीटने का आरोप लगाया। पुलिस ने उक्त चारों आरोपितों के खिलाफ केस दर्ज कर कार्रवाई में लगीं।

बीते 6 जून को 13 वर्षीया किशोरी के साथ गैंगरेप के आरोप में इस्तेखार व इस्तेफ़ाक के खिलाफ केस दर्ज कर पुलिस ने गिरफ्तार किया था। दोनों आरोपी जेल में हैं। आरोप है कि उसी केस के समझौता के लिए दबाव बनाने के लिए गैंगरेप पीड़िता के भाई विकास को घर से बाइक सवार युवकों ने उसे ले जाकर बुरी तरह पीटा और अधमरा करके रेलवे ट्रैक के किनारे फेंक दिया था। इसके बाद गांव की सौ से ज्यादा महिलाएं और पुरुषों ने थाने का घेराव कर आक्रोश जताया था।

आरोपी के पिता ने तोड़फोड़ का लगाया आरोप

गैंगरेप के आरोपी के पिता मुनीब ने दलित परिवार पर मारपीट व तोड़फोड़ का आरोप लगाया। उनका कहना है कि अधिक संख्या में आए लोगों ने उनके यहां तोड़फोड़ की। मुनीब का कहना है कि उसके बेटे को फर्जी ढंग से गैंगरेप में फंसाया गया है