सोनभद्र में मिला सोने (Gold) का भंडार, जिले में दो जगह मिले सोने के अयस्क (Gold Ore)

सोने

भू-वैज्ञानिकों की टीम ने बताया था कि सोनभद्र की पहाड़ियों में सोना (Gold) मौजूद है। जीएसआई के अनुसार महुली में 2943.26 टन और सोन पहाड़ी में 646.15 किलोग्राम सोने का भंडार मिला है

रिपोर्ट @ शाहनवाज शाह

सोनभद्र। सोनभद्र (Sonbhadra) खनिज संपदा से भरपूर उत्तर प्रदेश का जनपद सोनभद्र अब दुनिया के पटल पर आने वाला है। पिछले कई वर्षों से सोने (Gold) की तलाश कर रहे भू-वैज्ञानिकों को आखिरकार सफलता मिल ही गई। Sonbhadra जिले में दो जगह सोने के अयस्क (Gold Ore) मिले हैं। कुल 3 हजार टन सोने (Gold) के अयस्क से करीब डेढ़ हजार टन सोने का खनन किया जाएगा। इनके खनन के लिए नीलामी प्रक्रिया से पूर्व जिओ टैगिंग (geo tagging) की कार्रवाई शुरू की गई है।

सोनभद्र (Sonbhadra) में सोने (Gold) के उत्खनन का रास्ता साफ होने से पहले खनिज निदेशालय जिओ टैगिंग करवा रहा है। जिओ टैगिंग के लिए शासन ने 7 सदस्यीय टीम गठित की है। यह टीम 22 फरवरी तक शासन को रिपोर्ट सौंपेगी, जिसके बाद ब्लाकों की नीलामी की प्रक्रिया योगी सरकार द्वारा की जाएगी। वैज्ञानिकों को महुली में 2943.26 टन और सोन पहाड़ी में 646.15 किलोग्राम सोने का भंडार (Gold Ore) मिला है।

ई-टेंडर के जरिए होगी नीलामी

सोने के अयस्क

अब जब सोने (Gold) की खान का पता चल चुका है तो सरकार द्वारा गठित टीम जिओ टैगिंग करने के बाद ई-टेंडरिंग के जरिए ब्लॉक्स की नीलामी प्रक्रिया शुरू करेगी। टीम 22 फरवरी को अपनी रिपोर्ट शासन को सौंपेगी। वैज्ञानिकों की टीम ने 8 साल पहले ही जमीन के अंदर सोना होने की पुष्टि कर दी थी। अब यूपी सरकार ने भी  तेजी दिखाते हुए सोने को बेचने के लिए ई-नीलामी प्रक्रिया शुरू कर दी है। अध्ययन करके सोनभद्र में सोना होने के बारे में टीम ने बताया था और इस बात की पुष्टि भी 2012 में कर दी थी।

ये भी पढ़े : लिंगायत मंदिर परंपराओं को तोड़ते हुए मुस्लिम युवक शरीफ को बनाएगा मुख्य पुजारी

टीम ने बताया था कि सोनभद्र (Sonbhadra) की पहाड़ियों में सोना (Gold) मौजूद है। जीएसआई के अनुसार महुली में 2943.26 टन और सोन पहाड़ी में 646.15 किलोग्राम सोने (Gold) का भंडार मिला वही गुरमुरा की सोन पहाड़ी में भी मिले सोने की खान से गांव वासियों में खुशी की लहर जाग उठी लोगों का मानना है कि सोने की खान मिलने से जहां व्यापारी और बिजनेस मैन की आवाजाही से यहां की लोगों को रोजगार मिलेगा तो अपितु सोनभद्र का नाम देश यह नहीं विदेश में भी लिया जाएगा।

आपको बता दें कि यूपी सरकार को सबसे ज्यादा राजस्व देने वाला जनपद सोनभद्र प्रदेश का दूसरा जिला होने के साथ-साथ यहां पर कई उपलब्धियां पाई जाती है जैसे कि बिजली कोयला लाइमस्टोन पत्थर विश्व की धरोहर में पाए जाने वाला पेट्रोलियम पदार्थ जोकि सोनभद्र के फॉसिल्स पार्क  मैं मिला है जो अमेरिका के बाद दूसरे नंबर पर है।