अवैध संबंध बना बबलू के कत्ल की वजह

भावनपुर में कुछ दिन पहले हुए बबलू हत्याकांड का खुलासा करते हुए पुलिस ने एक फौजी और उसके साले को गिरफ्तार किया है।

मेरठ। एसएसपी राजेश पांडे और एसपी देहात राजेश कुमार ने बताया कि स्याल गांव के बाहर बीती 5 मई की देर रात बबलू गुर्जर पुत्र भंवर सिंह की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। मृतक के परिजनों ने सुन्दर, टीटू और अनूप के खिलाफ हत्या की रिपोर्ट दर्ज कराई थी। पुलिस ने सुन्दर को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया था। मगर, आरोपियों के परिजन उनके निर्दोष होने का दावा करते हुए लगातार एसओ भावनपुर आशुतोष कुमार से घटना की जांच की मांग करते रहे।

जिस पर एसओ ने सर्विलांस की मदद लेते हुए एक बार फिर से मामले की जांच शुरू की तो पूरे घटनाक्रम से पर्दा उठ गया। पुलिस ने बबलू की हत्या के मामले में गांव के रहने वाले फौजी अजीत व उसके साले तेजेन्द्र को गिरफ्तार कर लिया आरोपियों से दो तमंचे और चार कारतूस बरामद हुए। अजीत ने बताया कि मृतक बबलू के उसके भाई कपिल की पत्नी से अवैध संबंध थे। जिसके चलते पूरे गांव में उसके परिवार की बदनामी हो रही थी।

घटना वाले दिन वह अपने साले तेजेन्द्र और साथी नीरज के साथ देहरादून से टैक्सी लेकर स्याल पहुंचा। देर रात बारात में घोड़ी नचाकर लौट रहे बबलू की हत्या कर सभी लोग फरार हो गए।

एसएसपी राजेश पांडे ने बताया कि घटना में शामिल नीरज की तलाश की जा रही है। वहीं, बबलू की हत्या के झूठे आरोप में जेल भेजे गए सुन्दर को रिहा कराने के लिए 169 की रिपोर्ट भेजी जा रही है।