पुलिस द्वारा दलित बेटे की पिटाई करने के विरोध में माँ बैठी अमरण अनशन पर

हर दल के दलित हितैषी नेता पहुंचे पीड़ित से मिलने लेकिन फिर भी नही मिल रहा पीड़ित को न्याय

बहराइच। उत्तर प्रदेश के जिला बहराइच में एक माँ 3 दिन से पुलिस द्वारा की गई अपने बेटे की निर्मम पिटाई के विरोध में आमरण अनशन पर बैठी हुई है। आमरण अनशन पर बैठी माँ का आरोप है के पुलिस ने भारत बंद के दौरान उसके बेटे को पकड़ा था और दलित होने के नाते उसके साथ थाने में मारपीट तथा अमानवीय यातनाए दी गई और जब इसकी शिकायत ज़िले के आलाधिकारियों से की गई तो किसी ने भी इनकी फरियाद नही सुनी। हार कर इन्हें न्याय पाने के लिए धरने पर बैठना पड़ा। उधर पीड़ित दलित महिला के आमरण अनशन की भनक लगते ही अलग अलग राजनीतिक पार्टियों के नेता पीड़ित महिला के पास पहुँच कर खुद को दलित हितैषी बताने में जुट गए लेकिन फिर भी पीड़ित को न्याय नहीं मिल पा रहा है।

पिछले 3 दिनों से आमरण अनशन पर है केवला देवी

बाईट केवला देवी अनशन पर बैठी दलित पीड़ित की माँ

आमरण अनशन पर बैठी इस पीड़ित महिला “केवला देवी” का आरोप है के पिछले दिनों भारत बंद के दौरान शांतिपूर्ण ढंग से जरवल बाजार की दुकाने बन्द करा रहे इनके बेटे गगन गौतम को जरवल रोड थाने के एसओ मधुपनाथ मिश्रा ने पकड़ लिया और थाने ले जाकर जाती सूचक गाली देते हुए मारा पीटा और निर्वस्त्र कर अमानवीय यातनाए दी गई और फिर जब इनका बेटा गगन गौतम पिटाई से बेहोश हो गया तो गलत तरीके से डॉक्टरी करा कर मुक़दमा लिख दिया गया। और फिर न्याय पाने की उम्मीद में जब अपने बेटे के साथ हुई थाने में बर्बरता पूर्वक पिटाई की शिकायत ज़िले के आला अधिकारियों से करनी चाही तो किसी ने इनकी फरियाद नही सुनी। और जब कही न्याय न मिला तो केवला देवी धरने पर बैठ गई । 13 दिनों से धरने पर बैठी केवला देवी ने न्याय पाने के लिए पिछले 3 दिनों से आमरण अनशन शुरू कर दिया है ।

SO मधुपनाथ मिश्रा ने निर्वस्त्र कर पट्टो से की पिटाई – गुरुचरण गौतम, पीड़ित के पिता

वहीँ केवला देवी के पति गुरुचरण गौतम जो कि रिटायर दरोगा है उन्होंने भी अपने बेटे की निर्मम पिटाई का आरोप जरवल थाने के एसओ मधुपनाथ मिश्रा पर लगाते हुए बताया के एसओ ने थाने में निर्वस्त्र करके पट्टो से इनके बेटे की पिटाई की है जिसकी शिकायत डी एम ,एसपी से लेकर मानवाधिकार तक भी मैने की है मगर अभी तक न तो उस एसओ को वहाँ से हटाया गया है और न ही उसके खिलाफ कोई मुक़दमा लिखा गया है जिसके विरोध में उनकी पत्नी 13 दिनों से धरने पर बैठी है और अब बाद आमरण अनशन शुरू कर दिया है।

SO को सस्पेंड कर उसकी गिरफ्तारी होनी चाहिए – सावित्री बाई फुले, सांसद बीजेपी

उधर पीड़ित दलित महिला के आमरण अनशन पर बैठने की खबर लगते ही कई राजनीतिक पार्टीयो के नेता दलित महिला से मिलकर खुद को उनके साथ होने की बात कहते हुए अपनी पार्टी को दलित हितैषी साबित करने की होड़ में शामिल होते दिखाई दिए जिसमे बहराइच से बीजेपी की महिला सांसद सावित्री बाई फुले ने कहा कि दलितो ओर अन्याय बर्दाश्त नहीं किया जाए गा। आरोपी एसओ को सस्पेंड कर उसकी गिरफ्तारी होनी चाहिए। इकाई तरह बहराइच से ही सपा के भी नेताओ ने दलित महिला व उसके बेटे से मिलकर न्याय दिलाने के लिए उनके साथ होने की बात कही।