करतारपुर कॉरिडोर पर पाकिस्तान ने भारत की इन 5 मांगो को मानने से किया इनकार

Kartarpur Corridor Pakistan

करतारपुर कॉरिडर पर पाकिस्तान का दोहरा रवैया सामने आया है सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार गुरुवार को कॉरिडोर को लेकर गृह मंत्रालय और विदेश मंत्रालय के अधिकारियों के बीच एक अहम बैठक हुई थी, जिसमें भारत ने श्रद्धालुओं को लेकर कई अहम मांगें पाकिस्तान के सामने रखीं थी जिसे पाकिस्तान ने मानने से इनकार कर दिया है।

देखे वीडियो –

करतारपुर कॉरिडोर को लेकर भारत की इन मांगों पर पाकिस्तान को ऐतराज

1. भारत ने कहा था कि 5000 यात्री हर दिन करतारपुर साहिब के दर्शन करें और किसी खास दिन जैसे बैसाखी, गुरुपूर्णिमा के समय 15000 यात्री प्रतिदिन दर्शन करें. लेकिन मीटिंग में पाकिस्तान ने इस पर नकार कर दिया. उसने कहा है कि रोजाना सिर्फ 500 श्रद्धलु दर्शन करेंगे. लेकिन संख्या भारत के हिसाब से बहुत कम है।

2. भारत ने मांग की था कि सभी भारतीय नागरिक और OCI कार्ड धारक करतारपुर साहिब के दर्शन करने जाएं पर पाकिस्तान ने कहा कि केवल सिख ही वहां पर दर्शन करने जाएंगे. सूत्रों के मुताबिक पाकिस्तान यहां पर धर्म के आधार पर बांटने की कोशिश में जुटा हुआ है।

3. भारत ने पाकिस्तान से कहा कि एक परिवार या फिर एक ग्रुप चाहे जितनी संख्या का हो उसको करतारपुर के दर्शन करने के लिए पाकिस्तान इजाजत दे. पर पाकिस्तान ने यहां भी भारत की बात नहीं मानी और उसने कहा कि केवल और केवल 15 श्रद्धालुओं का ग्रुप ही एक बार मे भारत से दर्शन करने जा सकता है. भारत ने इसको लेकर ऐतराज जताया।

4. भारत ने कहा कि कोई व्यक्ति चाहे गाड़ी से जाए या फिर वो दर्शन करने पैदल जाना चाहता है वो जा सकता है, ये उसकी इच्छा के अनुसार होना चाहिए. पर पाकिस्तान ने यहां भी अपनी मनमानी चलाते हुए कहा कि बॉर्डर के पार कोई पैदल दर्शन करने नहीं जा सकता है. दर्शन करने वाला श्रद्धालु सिर्फ और सिर्फ गाड़ी से ही जा सकता है।

5. करतारपुर साहिब को महाराजा रणजीत सिंह ने और कुछ श्रद्धालुओं ने मिलकर 100 एकड़ जमीन दान में दी थी. पाकिस्तान इस भूमि का इस्तेमाल अपने लिए कर रहा है. भारत ने कहा की 100 एकड़ जमीन करतारपुर साहिब ट्रस्ट में रखा जाए. पाकिस्तान ने इस बात को भी अपनी मीटिंग के दौरान अस्वीकार कर दिया।

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/