खाकी का मानवीय चेहरा कप्तान ने खोला आवास पर भंडारा

अमूमन जिन हाथो में डंडा और जुबा पर हमेशा गाली रहती थी, आज उनके हाथो में लंच का पैकेट और जुबा पर प्यार है

गोरखपुर । खाकी का मानवीय चेहरा, कप्तान ने खुलवाया आवास पर लंगर, जी हां अमूमन जिन हाथो में अभी तक डंडा और जुबा पर गाली होती थी, आज उन हाथो में लंच पैकेट और जुबा पर प्यार के बोल, और इस मुश्किल घडी में लोगो को खाना खिलाते नजर आ रहे है, लाक डाउन को लेकर कप्तान ने ये पहल शुरू की है, हर रोज तकरीबन 5 सौ लोगो का खाना बनावा रहे है।

कोरोना वायरस को लेकर आज पूरा हिन्दुसतान उसके कहर का शिकार हो गया है, हर एक देश अपने को इस महामारी से बचाने की कवायत कर रहा है, ऐसे में बात गोरखपुर की करे, तो यहा भी हर व्यक्ति समाजिक संगठन प्रशासन के साथ लोगो की मदद के लिए बढ़ गया है, सबसे अलग एक तश्वीर जो सामने आ रही है, वो है, खाकी की।

अमूमन जिन हाथो में डंडा और जुबा पर हमेशा गाली रहती थी, आज उनके हाथो में लंच का पैकेट और जुबा पर प्यार है, जिले के कप्तान डॉ सुनील गुप्ता ने अपने आवास पर भंडारा शुरू कर दिया है, और बकायदा 500 के आस पास लोगो को खाना बनवा रहे है, और पुलिस लाइन से गाडी मंगवा कर लेडिज दरोगा को इसकी जिम्मेदारी सौंपी गई है।

की वो इस खाने को हर एक जरूरत मंद लोगो तक पहुचाये, और वो महिला दरोगा अपने सिपाहियों के साथ इस भोजन को लेकर सडक किनारे रहने वाले झुग्गी झोपड़ियो में रहने वाले गरीब लोगो को भोजन बाँट रही है, इस आपदा के समय खाकी के और जिले के कप्तान की पहल सराहनीय माना जा रहा है।

लाक डाउन को लेकर आज पूरा देश इससे प्रभावित है, और सबसे ज्यादा प्रभावित सडक किनारे रहने वाले और झुग्गी झोपड़ियो में रहने वाला तपका हो रहा है, क्योकि इस लाक डाउन के कारण जहा इनका रोजगार बंद है।

वही इनके लिए खाने पिने की समस्या भी बड़ी मुसीबत खड़ी हो गई है, लेकिन जिले के कप्तान की तरफ से ये पहल उनके लिए दो जून के भोजन की व्यवस्था करना अपने आप में सराहनीय पहल है।

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...