Jammu Kashmir पुर्नगठन बिल राज्यसभा में पास होने पर, जानिए ग्रहमंत्री अमित शाह ने क्या कहा

Jammu Kashmir

जैसे ही स्थिति सामान्य होगी और उचित समय आयेगा, हम जम्मू- कश्मीर (Jammu Kashmir) को राज्य का दर्जा दे देंगे- गृहमंत्री अमित शाह 

केंद्र की मोदी सरकार (Home Minister Amit Shah) ने जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) को दो हिस्सों में बांटने वाला विधेयक जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) पुनर्गठन बिल राज्यसभा से पारित करवा कर इतिहास रच दिया है। हालांकि, अभी लोकसभा में इस विधेयक का पास होना बाकी है, मगर लोकसभा में नंबर को देखते हुए ऐसा माना जा रहा है कि वहां भी यह बिल आसानी से पास हो जाएगा।

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 के अधिकतर प्रावधान समाप्त करने, जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) को विधायिका वाला केंद्र शासित क्षेत्र और लद्दाख को बिना विधायिका वाला केंद्र शासित क्षेत्र बनाने संबंधी सरकार के दो ”साहसिक एवं जोखिम भरे संकल्पों एवं दो संबंधित विधेयकों को सोमवार को राज्यसभा की मंजूरी मिल गई।

ये भी पढ़े:पाकिस्तानी एक्ट्रेस (Pakistani Actress) ने अनुच्छेद 370 और , Article 35 A पर किया विवादित ट्वीट

राज्यसभा ने इन मकसद वाले दो सरकारी संकल्पों, जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) आरक्षण (द्वितीय संशोधन) विधेयक, 2019 तथा जम्मू-कश्मीर पुनर्गठन विधेयक को ध्वनिमत से पारित कर दिया। इससे पहले जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) पुनर्गठन विधेयक को पारित करने के लिए उच्च सदन में हुए मत विभाजन में संबंधित प्रस्ताव 61 के मुकाबले 125 मतों से मंजूरी दे दी गई।

गृह मंत्री अमित शाह
राज्यसभा से जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) पुनर्गठन विधेयक 2019 को राज्यसभा से पास कराने के बाद प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने संविधान के अनुच्छेद 370 के तहत जम्मू कश्मीर का विशेष राज्य का दर्जा समाप्त करने के संकल्प पर गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) के राज्यसभा में दिये भाषण को ”व्यापक और सारगर्भित” बताया और कहा कि यह ”अतीत के ऐतिहासिक अन्याय को सटीक ढंग से रेखांकित करता है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि ”यह जम्मू कश्मीर के हमारे भाइयों एवं बहनों के बारे में सहभागितापूर्ण दृष्टि को पेश करता है। उन्होंने कहा, ”गृह मंत्री अमित शाह का राज्यसभा में दिया भाषण व्यापक और सारगर्भित था। यह अतीत की ऐतिहासिक अन्याय को सटीक ढंग से रेखांकित करता है।

ये भी पढ़े: केंद्र सरकार ने उठाया बड़ा कदम, जम्मू-कश्मीर से अलग हुआ लद्दाख (Ladakh)

गृह मंत्री अमित शाह
इससे पहले चर्चा का जवाब देते हुए गृह मंत्री अमित शाह ने कहा कि अनुच्छेद 370 के कारण जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के ”तीन सियासतदानों के परिवारों के अलावा किसी अन्य का फायदा नहीं हुआ है। उन्होंने कहा कि इसी अनुच्छेद के कारण राज्य में आतंकवाद पनपा और बढ़ा। अमित शाह (Home Minister Amit Shah) ने सदन में आश्वासन दिया कि जम्मू कश्मीर को केन्द्र शासित क्षेत्र बनाने का कदम स्थायी नहीं है तथा स्थिति समान्य होने पर राज्य का दर्जा बहाल कर दिया जाएगा। विपक्ष ने राज्य का दर्जा खत्म किये जाने के कदम का काफी विरोध किया था।

गृह मंत्री अमित शाह

गृह मंत्री ने विपक्ष की इन आपत्तियों की चर्चा करते स्पष्ट किया कि जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में ”जैसे ही स्थिति सामान्य होगी और उचित समय आयेगा, हम जम्मू कश्मीर को राज्य का दर्जा दे देंगे। उन्होंने कहा कि जम्मू कश्मीर ”देश का मुकुट मणि है और बना रहेगा। उन्होंने चर्चा के दौरान कुछ सदस्यों द्वारा अनुच्छेद 370 हटने के बाद राज्य के कोसोवो बनने की आशंकाएं जताये जाने का जिक्र करते हुए उन्हें आश्वस्त किया कि ”यह कोसोवो नहीं बनेगा।

देखे वीडियो –

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...