लद्दाख के सांसद जमयांग सेरिंग नमग्याल अपने बेहतरीन भाषण के बाद हुए परेशान

जमयांग सेरिंग नमग्याल

दमदार भाषण के बाद जमयांग सेरिंग नमग्याल को इतनी फेसबुक फ्रेंड रिक्वेस्ट आई की उनको कहना पड़ा वो, और फेसबुक रिक्वेस्ट एक्सेप्ट नहीं कर सकते हैं

जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) से धारा 370 हटी तो संसद में लद्दाख (Ladakh) के सांसद जमयांग सेरिंग नमग्याल (Jamyang Tsering Namgyal) ने दमदार भाषण दिया और बिल का विरोध करने वालों की बोलती बंद कर दी। उनकी स्पीच को सुनकर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narendra Modi) इतने खुश हुए कि उन्होंने ट्विटर पर जमयांग (Jamyang Tsering Namgyal) की तारीफ की और यूजर्स से उनके भाषण को सुनने को कहा।

ये भी पढ़े:करीना कपूर का वायरल वीडियो , सोशल मीडिया पर किया गया खूब पसंद

अमित शाह (Amit Shah) ने भी उनके भाषण को शेयर किया और तारीफ की। जिसके बाद लोगों ने फेसबुक पर उनको फेसबुक रिक्वेस्ट सेंड करना शुरू कर दिया। जिससे वो इतने परेशान हो गए कि फेसबुक पर पोस्ट लिखकर कहना पड़ा कि वो और फेसबुक रिक्वेस्ट एक्सेप्ट नहीं कर सकते हैं।

ये भी पढ़े:पाकिस्तानी एक्ट्रेस ने सुषमा स्वराज के निधन पर की अभ्रद टिप्पणी

जमयांग सेरिंग नमग्याल (Jamyang Tsering Namgyal) ने फेसबुक पोस्ट करते हुए लिखा- ‘मैं और फेसबुक रिक्वेस्ट एक्सेप्ट नहीं कर सकते हैं. इसकी लिमिट सिर्फ 5 हजार ही है। इसलिए आप लाइक बटन दबाएं और मेरे ऑफीशियल पेज से जुड़े रहें.’ मंगलवार को जमयांग ने बताया कि लद्दाख कई सालों से केंद्र शासित प्रदेश होने की मांग कर रहा था। 34 वर्षीय बीजेपी लीडर ने कहा- ‘अगर लद्दाख अविकसित है, तो इसमें धारा 370 और कांग्रेस पार्टी जिम्मेदार है।

जमयांग सेरिंग नमग्याल

उन्होंने भाषण में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) और उमर अब्दुल्लाह (Omar Abdullah) को टारगेट किया। उन्होंने कहा- ‘ये लोग पंचायत के चुनाव में गायब रहते हैं और पोस्ट लेने के लिए चुनाव लड़ने आ जाते हैं। उन्हें लगता है कि कश्मीर उनकी पैतृक संपत्ति है, लेकिन यह अब सच नहीं है।

ये भी पढ़े:सुहाना खान की पहली फिल्म का पोस्टर हुआ लांच, फैंस में बढ़ी उत्सुकता

उन्होंने भाषण में जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) और उमर अब्दुल्लाह (Omar Abdullah) को टारगेट किया। उन्होंने कहा- ‘ये लोग पंचायत के चुनाव में गायब रहते हैं और पोस्ट लेने के लिए चुनाव लड़ने आ जाते हैं। उन्हें लगता है कि कश्मीर उनकी पैतृक संपत्ति है, लेकिन यह अब सच नहीं है।

जमयांग सेरिंग नमग्याल (Jamyang Tsering Namgyal) ने राजनीति की शुरुआत ग्राउंड लेवल से शुरू कीANI से बात करते हुए उन्होंने कहा- 2012 में मैं जम्मू पहुंचा। वहां बीजेपी और उसकी विचारधारा के संपर्क में आया। मैं वापस लेह आया और लेह में भाजपा जिला कार्यालय का कार्यालय सचिव बनाया गया। जो ऑफिस की सबसे छोटी पोस्ट थी।

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...