समाज के गुमनाम बनेंगे मिशाल 

ये वो दिव्यांग बच्चे है, जिन्हें पूछने वाला कोई नही था, लेकिन आज ये बच्चे कुछ ऐसा कर रहे है, जो लोगो कर दिलो में राज करने वाले है, पढ़िए ये खास रिपोर्ट 

गोरखपुर । सामज से कुछ गुमनाम बनेंगे आम से खास, इस बार गोरखपुर म्होत्सव में बॉलीवुड नाइट्स से लेकर तमाम बड़ी बड़ी हस्तियों के बीच कुछ ऐसे गुमनाम चेहरे है, जो लोगो के लिए खास बनने वाले है, ये वो दिव्यांग बच्चे है, जिन्हें पूछने वाला कोई नही था, लेकिन आज ये बच्चे कुछ ऐसा कर रहे है, जो लोगो कर दिलो में राज करने वाले है।

इस बार 11, 12 व 13 जनवरी को होने वाले गोरखपुर महोत्सव को लेकर तैयारियां जोरों पर है, हर क्षेत्र में अपने अपने हिसाब से तैयारी चल रही है, लेकिन सबसे अलग हट कर दिव्यांग बच्चे भी इस बार कुछ ऐसा करने वाले है, जो कि सबके दिलों में एक छाप छोड़ने वाले है, गोरखपुर म्होत्सव में ये दिव्यांग बच्चे जो न सुन सकते है न बोल सकते है, वो अलग अलग अपने कला के माध्यम से लोगो के बीच आने वाले है।

जिसको को लेकर तैयारी जोरों पर है, न दिव्यांगों के बीच पहुचे हमारे रिपोर्टर ने कुछ न बोल पाने, कुछ न सुन पाने वाले बच्चो व उनके ट्रेनर से बात की, कैसे वो कर रहे है इस बार के गोरखपुर महोत्सव में अपने हुनर को पेश करने की तैयारी, दिव्यांगजन शसक्तीकरण केंद्र (सीआरसी) के नीरज मधुकर असिस्टेंट प्रोफेसर ने बताया, कि मंडलायुक्त महोदय के आदेशानुसार यहां पर पहली बार दिव्यांग जनों को सम्मिलित किया जा रहा है।

गोरखपुर महोत्सव में उसमें चार अलग-अलग तरीके के इवेंट्स है राष्ट्रगान का गायन किया जा रहा है, उनके द्वारा राष्ट्रगान के ज्ञान के अलावा स्पोर्ट्स इवेंट में यह लोग शामिल हो रहे हैं, बच्चे जो गोरखपुर मंडल के अलग-अलग जगह से आएंगे गोरखपुर जनपद से और उसमें व्हीलचेयर का रेट और ट्राई साइकिल का रेस इस दो इवेंट में वह में शामिल हो रहे हैं, इसके अलावा हमारा जो अलग-अलग एथेनिक पारम्परिक पोसाक को रिप्रेजेंट करने जा रहे हैं, यह सारे के सारे बच्चे और उसमें करीब करीब 20 से 25 बच्चे हमारे रहेंगे जो अलग-अलग ड्रेस में 16 राज्यों को रिप्रेजेंट करेंगे कैटवॉक करेंगे।

गोरखपुर महोत्सव वाकई कुछ खास होने वाला है, क्योकि फिल्मी कलाकारों के साथ ये दिव्यांग बच्चे पहली बार लाइव मंच पर बिना कुछ बोले बिना कुछ सुने वो करके दिखाएंगे, वो अपने आप में अनूठा होगा। निश्चित रूप से ये दिव्यांग बच्चे इस बार सभी के दिलो में राज करने वाले है

जो बाहर से मॉडल सारे उनके साथ इतनी व्यंजन एक समायोजित समाज की परिकल्पना को साकार करते हुए पहली बार ये शामिल होने जा रहे हैं, यह सारे बच्चे गोरखपुर जनपद से है इसमें कुछ संकेत विद्यालय के बच्चे हैं कुछ हमारे यहां जो रेगुलर डे केयर सेंटर में आ रहे हैं बच्चे वहां से है कुछ पिपराइच से बचे हैं और आसपास के एनजीओ एजुकेशन प्राप्त हो रहा है उनको हमने सिलेक्ट  किया गया है और बच्चों को अलग से प्रशिक्षण दे रहे हैं

करीब 25 बच्चे इसमें शामिल होंगे गोरखपुर महोत्सव में कैटवॉक में 8 बच्चे शामिल होंगे राष्ट्रगान के गायन में उनके साथ साथ सामान्य जनों के साथ हुए मंच के नीचे 20 बच्चे और भी है जो जन गण मन का गायन करेंगे।

इस बार गोरखपुर महोत्सव वाकई कुछ खास होने वाला है, क्योकि फिल्मी कलाकारों के साथ ये दिव्यांग बच्चे पहली बार लाइव मंच पर बिना कुछ बोले बिना कुछ सुने वो करके दिखाएंगे, वो अपने आप में अनूठा होगा, निश्चित रूप से ये दिव्यांग बच्चे इस बार सभी के दिलो में राज करने वाले है।