मुलायम सिंह की छोटी बहु अपर्णा यादव ने बोला मायावती पर हमला,कहा….

अपर्णा यादव

हमने मायावती को सम्मान देने में कोई कमी नहीं रखी, लेकिन उन्होंने हमारे सम्मान की लाज नहीं रखी-अपर्णा यादव

लोकसभा चुनाव में उम्मीद के मुताबिक नतीजे न आने के बाद से बहुजन समाज पार्टी (बसपा) की अध्यक्ष मायावती समाजवादी पार्टी और उसके राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव पर लगातार हमलावर हैं. हालांकि अखिलेश यादव अभी तक चुप्पी साधे हुए हैं. अब समाजवादी पार्टी (सपा) के संरक्षक मुलायम सिंह की छोटी बहू अपर्णा यादव ने मायावती पर करारा तंज कसा हैअपर्णा यादव

ये भी पढ़े:जिलाधिकारी की जनसुनवाई में शिकायतकर्ताओं को मिलेगी लाल पर्ची

वेदों में लिखा है कि जो सम्मान नहीं पचा पाता, वो अपमान भी नहीं पचा पाता-अपर्णा यादव

अपर्णा यादव ने कहा, ‘हमने मायावती को सम्मान देने में कोई कमी नहीं रखी, लेकिन उन्होंने हमारे सम्मान की लाज नहीं रखी. वो समाजवादी पार्टी के सम्मान को पचा नहीं पाई हैं. वेदों में लिखा है कि जो सम्मान नहीं पचा पाता, वो अपमान भी नहीं पचा पाता.’ आजतक से बातचीत में अपर्णा यादव ने कहा, ‘मायावती से गठबंधन करने का फैसला पूरी तरह सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव का थाअपर्णा यादव

ये भी पढ़े:मुख्यमंत्री योगी के सख्त निर्देश,अफसर 9 बजे दफ्तर नहीं पहुंचे तो कटेगी सैलरी

अखिलेश यादव के फैसले से थोड़ी नाराजगी जताते हुए अपर्णा यादव ने कहा कि ‘उन्होंने (अखिलेश यादव) इस गठबंधन का फैसला किससे सलाह लेकर किया था, यह वही बता सकते हैं. हालांकि मुलायम सिंह यादव बसपा से गठबंधन के फैसले से खुश थे या नहीं, इस पर मैं कुछ नहीं बोलना चाहती हूंअपर्णा यादव

समाजवादियों को एकजुट होना ही होगा-अपर्णा यादव

समाजवादियों को एकजुट होने की सलाह देते हुए अपर्णा ने कहा, ‘अभी समाजवादी पार्टी के लिए बहुत बड़ी चुनौती है, क्योंकि लोकसभा चुनाव में पार्टी की सीटें बेहद कम आई हैं. अब समाजवादियों को एकजुट होना ही होगा. साथ ही पार्टी अपनी हार को लेकर चिंतन और मंथन करेअपर्णा यादव

ये भी पढ़े:लखनऊ के अलीगंज में शेरे पंजाब ढाबे में मिला पराठे में कॉकरोच

बीजेपी की प्रचंड लहर समाजवादी पार्टी के लिए खतरे की घंटी है-अपर्णा यादव

साथ ही अपर्णा ने कहा, ‘मैं चाहती हूं कि समाजवादी पार्टी के सभी बड़े नेताओं को एक साथ आना चाहिए और वैचारिक मंथन करना चाहिए कि क्या वजह रही कि लोकसभा चुनाव में पार्टी को इतनी बुरी हार का सामना करना पड़ा. इस पर बहुत जरूरी और बहुत जल्द निर्णय होना चाहिए. अभी बीजेपी की प्रचंड लहर है और लोग बीजेपी को पसंद कर रहे हैं, तो यह समाजवादी पार्टी के लिए खतरे की घंटी है.

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...