नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद हत्या, अर्धनग्न अवस्था में मिला शव

छात्रा घर से शौच के लिए निकली थी लेकिन रहस्यम स्थितियों में लापता हो गयी थी, विशुनपुरा पुलिस ने नहीं किया मुकदमा दर्ज, टरकाती रही परिजनों को

कुशीनगर। कुशीनगर के विशुनपुरा थाने के कोईलहवा गांव के पास बड़ी गण्डक नहर से किशोरी का अर्धनग्न अवस्था में शव मिलने से सनसनी फैल गयी। किशोरी के शरीर पर कई जगह जख्म के निशान थे जिससे उसकी हत्या करके फेंके जाने की आशका जताई जा रही है। स्थानीय लोगों की सूचना पर पहुंची पुलिस ने शिनाख्त कराई तो उसकी पहचान पास के ही एक गांव निवासी कक्षा दस की छात्रा के रूप में हुई। सूचना पाकर छात्रा के परिजन भी मौके पर पहुंच गये। परिजनों ने नाबालिग के साथ सामूहिक दुष्कर्म करने के बाद हत्या करने का आरोप लगाया है। मामले की सूचना मिलते ही पुलिस अधीक्षक खुद मौके पर पहुंचे और एसओ की लापरवाही कड़ा एक्शन लेते हुए तत्काल प्रभाव से निलंबित कर दिया।

परिजनों ने गांव के चार युवकों पर आपहरण करने की आशंका जाहिर की थी लेकिन पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रहीं

कुशीनगर के विशुनपुरा थाने की पुलिस ने भी कुछ ऐसा ही कारनामा किया है, बीते 21 जुलाई को कक्षा दस में पढ़ने वाली छात्रा घर से शौच के लिए निकली थी लेकिन रहस्यम स्थितियों में लापता हो गयी। परिजनों ने काफी तलाश किया लेकिन उसका कुछ पता नहीं चला इसके बाद परिजनों ने विशुनपुरा थाने की पुलिस को तहरीर देकर गांव के चार युवकों पर आपहरण करने की आशंका जाहिर की थी लेकिन पुलिस हाथ पर हाथ धरे बैठी रहीं।

विशुनपुरा पुलिस ने अगर समय रहते तहरीर पर केस दर्ज करने के बाद कार्यवाही की होती तो शायद उनकी बेटी की जान बच जाती

विशुनपुरा थाने में ना तो मुकदमा दर्ज हुआ और ना ही नाबालिग छात्रा को बरामद करने के लिए कोई प्रयास किया गया इतना हीं नहीं पुलिस ने आरोपी युवकों से पूछताछ भी नहीं किया। परिजन लागातार थाने पर दौड़ते रहे लेकिन पुलिस उन्हें टरकाती रही। आज विशुनपुरा थाने के कोईलहवा गांव के पास बड़ी गण्डक नहर से छात्रा का अर्धानग्न शव मिला तो परिजनों का धैर्य टूट गया। शव की हालत देखने के बाद परिजनों ने नाबालिग के साथ गैंगरेप के बाद हत्या करने की आशंका जताई है। परिजनों का कहना है कि विशुनपुरा पुलिस ने अगर समय रहते उनकी तहरीर पर केस दर्ज करने के बाद कार्यवाही की होती तो शायद उनकी बेटी की जान बच जाती लेकिन थाने से उनको किसी तरह का सहयोग नहीं मिला।