समाजवाद का उभरता हुआ नया सूरज धर्मेंद्र यादव(राजा)

- in Article
धर्मेंद्र यादव राजा

अगर हौसला और हिम्मत है तो गरीबी या छोटी उम्र कामयाबी का रास्ता नहीं रोक सकती… धर्मेंद्र यादव राजा

आइये हम एक ऐसे युवा सपा नेता की कहानी बताते हैं जिसने बहुत कम उम्र में ही बड़ी पहचान बनाई जी हाँ इटावा जिले के एक छोटे से गांव नगला जगन में बेहद गरीब परिवार में जन्मे धर्मेंद्र यादव राजा जिनके पिता का देहांत महज 12 साल की उम्र में बीमारी के कारण इलाज के अभाव में हो गया “माननीय मुलायम सिंह यादव जी के गांव सैफई में बड़ी बहन के घर पालन पोषण हुआ और वही  चौ.चरण सिंह पी कालेज से ग्रेजुएशन की पढ़ाई की।

ये भी पढ़े:छात्राओं की मौत से आक्रोशित परिजनों ने शिक्षा मंत्री की गाडी के शीशे तोड़े
धर्मेंद्र यादव राजा

ये भी पढ़े:लखनऊ-आगरा एक्सप्रेसवे पर चलने वाले यात्रियो के लिए नई व्यवस्था

इस युवा नेता धर्मेंद्र यादव राजा की सैफई महोत्सव के दौरान आदरणीय अखिलेश यादव जी की पत्नी डिंपल यादव जी से भेंट हुई उन्होंने इनसे गांव से चने का साग लेकर आने को कहा जो आदरणीय अखिलेश यादव जी को बहुत पसंद था अगले दिन गांव से चने का साग लेकर डिंपल यादव जी को दिया धर्मेंद्र यादव राजा बताते हैं आदरणीय डिम्पल यादव जी खुश हो गईं उन्होंने कहा बेटा क्या बनना चाहते हो मैनें कहा मैं नेता बनना चाहता हूं वो हसीं और बोली ठीक है वो अंदर कमरे में गई और अखिलेश भइया के पाॅच जोड़ी कुर्ता पेंट कपड़े मुझे थमा दिये वोली ये लो बेटा कपड़े।

ये भी पढ़े:नासिर नाम के युवक ने सपने में देखा चोरी होते,जागते ही पड़ गया मुसीबत में

मैनें वही कपड़े दर्जी से अपने नाप के फिट कराये और हर कार्यक्रम में जाने लगा लोग उपहास करने लगे मैने कोई परवाह नहीं की और 2009 के लोकसभा कन्नौज में डिम्पल भाभी का घर घर जाकर खूब प्रचार किया मेरी माँ ने अपने सारे गहने बेच बेच कर मुझे पैसा दिये फिर बहुत कोशिश की कि पार्टी की तरफ से कोई पद मिल जाये लेकिन चाटुकारों ने अखिलेश यादव जी से नहीं मिलने दिया।धर्मेंद्र यादव राजा

ये भी पढ़े:राजधानी लखनऊ के इमामबाड़े में महिलाओ के स्कर्ट पर रोक से पर्यटक भड़के

इतना सब कुछ होने के बाद भी इस नौजवान ने हिम्मत नहीं हारी और समाजवादी सोच लेकर आगे बढ़ता रहा ये नौजवान बिना किसी लालच और फायदे के लोगों की मदद करता रहा पीड़ित कमजोंर और गरीबों की बिना भेदभाव के मदद करता रहा और धीरे धीरे राजा ने नौजवानों महिलाओं एवं बुजुर्गों के दिलों में अपनी एक साफ़ सुथरी समाज सेवी के रूप में जगह बना ली फिर इस नौजवान ने समाजवादी नौजवान सभा का निर्माण किया जिसमें शुरू में महज़ चंद लोग थे।

ये भी पढ़े:असलहाधारियों द्वारा मकान को कब्जाने की कोशिश, पुलिस बैकफुट पर

लेकिन इस सभा की लोकप्रियता धर्मेंद्र यादव और उनके साथियों के कार्यों और सभाओं से इतनी बढ़ी की आज पूरे उत्तर प्रदेश के अलावा अन्य प्रदेशों में भी समाजवादी नौजवान सभा संगठन धर्मेंद्र यादव राजा चला रहें हैं और वो ही इस संगठन के राष्ट्रीय अध्यक्ष हैं इस संगठन में लगभग 25 हज़ार युवा पद अधिकारी हैं अपनी कोशिशों और हौसले से राजा ने ये साबित कर दिया कि गरीबी या उम्र के कम होने से कामयाबी पर कोई फर्क़ नहीं पढता आज वो गरीब नौजवान जिसका लोग मजाक उड़ाते थे अपने प्रिय नेता श्री अखिलेश यादव से मिलने नहीं देते थे वहीं धर्मेंद्र यादव राजा हजारों नौजवानों की प्रेरणा बन गया है।

सब्सक्राइब करें-

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...