नितिन गडकरी ने कहा, चंद चीज़ें फोकट में बांट कर दिल्ली का भविष्य नहीं बन सकता

नितिन गडकरी

केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने संकल्प पत्र जारी करते हुए कहा कि दिल्ली की तकदीर को हम बदलने वाले हैं

दिल्ली विधानसभा चुनाव में अब महज गिने-चुने दिन ही बचे हैं। दिल्ली जीतने के लिए भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) ने अपना पूरा दम झोंक दिया है। इसके लिए आज शुक्रवार को बीजेपी ने अपना संकल्प पत्र जारी किया।घोषणापत्र जारी करते वक्त नितिन गडकरी ने कहा कि कुछ चंद चीज़ें फोकट में बांट कर दिल्ली का भविष्य नहीं बन सकता है।

ये भी पढ़े:बजट सत्र से पहले विपक्ष का विरोध प्रदर्शन, विपक्ष ने CAA के खिलाफ उठाई आवाज़

शुक्रवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस में केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने संकल्प पत्र जारी करते हुए कहा कि दिल्ली की तकदीर को हम बदलने वाले हैं। दिल्ली में वायु-जल प्रदूषण सबसे बड़ी समस्या है, हमारी केंद्र सरकार ने दोनों ही दिशा में बड़े काम किए जा रहे हैं। नितिन गडकरी ने कहा कि हमारी सरकार का फोकस दिल्ली में साफ पानी की व्यवस्था करना है। केंद्र सरकार ने जो निर्मल गंगा के तहत 7000 करोड़ का प्रोजेक्ट चलाया है, उसके तहत दिल्ली में 2070 तक साफ पानी की सुविधा मिलेगी। हमारी सरकार ने वेस्टर्न-ईस्टर्न पेरिफेरल एक्सप्रेस-वे बनाने का काम किया है।

दुनिया का सबसे बड़ा एक्सप्रेस-वे दिल्ली से मुंबई के लिए बनाया जा रहा है। दिल्ली के लोग 12 घंटे में मुंबई पहुंच जाएंगे। इसके जरिए दिल्ली के आसपास गांवों को भी फायदा पहुंचेगा। दिल्ली-मेरठ एक्सप्रेस वे का काम अप्रैल तक पूरा हो जाएगा। अब चालीस मिनट में लोग दिल्ली से मेरठ जा सकेंगे। केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी, दिल्ली बीजेपी के प्रदेश अध्यक्ष मनोज तिवारी और अन्य स्थानीय नेताओं की मौजूदगी में बीजेपी ने अपना घोषणा पत्र जारी किया। बीजेपी ने संकल्प पत्र के माध्यम से अपने विजन को जनता के सामने रखा।

ये भी पढ़े:बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा, जो जेल नहीं जाता है, वह नेता नहीं बनता है

दिल्ली के चुनावी तारीख जैसे-जैसे नजदीक आ रही है वैसे वैसे चुनावी प्रचार में आक्रामकता बढ़ती जा रही है। भड़काऊ बयान देने वालों पर चुनाव आयोग एक्शन ले रहा है और सत्ता में आने की कोशिश कर रही भारतीय जनता पार्टी के नेताओं पर सबसे ज्यादा इसकी मार पड़ी है।अभी तक केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर, बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा और बीजेपी के उम्मीदवार कपिल मिश्रा पर बयानबाजी की वजह से चुनाव आयोग की गाज गिर चुकी है।

बीजेपी नेताओं की ओर से चुनावी कैंपेन में शाहीन बाग के प्रदर्शन को मुद्दा बनाया गया। इस दौरान कई नेताओं ने भड़काऊ बयान दिए, जिसके बाद केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर पर 72 घंटे और बीजेपी सांसद प्रवेश वर्मा पर 96 घंटे का बैन लगाया गया।इससे पहले मॉडल टाउन से बीजेपी के उम्मीदवार कपिल मिश्रा पर भी चुनाव आयोग का एक्शन हो चुका है। कपिल ने अपने एक ट्वीट में शाहीन बाग को मिनी पाकिस्तान बताया था, जिसके बाद चुनाव आयोग ने उनके ट्वीट को हटाया। साथ ही 48 घंटे तक उनके प्रचार करने पर रोक लगा दी गई।