अब थाने का चक्कर नही लगाना पड़ेगा, ऑनलाइन दर्ज होगी एफआईआर

7 साल से कम सज़ा के मामले में ही दर्ज होगा आनलाइन एफआईआर

गोरखपुर। जिले की जनता को भी अब मुकदमा दर्ज कराने के लिए थानों का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। अब गोरखपुर शहर के लोग भी घर बैठे आनलाइन एफआईआर Online FIR दर्ज करा सकेंगे। लोगों को एफआईआर की कॉपी के लिए भी थाने जाने की जरूरत नहीं है। पुलिस विभाग के एप में उसके लिए भी सुविधा दी गई है।

अक्सर देखा जाता है कि लोग ऑनलाइन एफआईआर Online FIR दर्ज कराने के लिए कई बार थानों का चक्कर लगाते है। थानेदार और दीवान मुकदमा दर्ज करने में टाल-मटोल करते हैं। इससे निजात दिलाने के लिए सरकार ने पारदर्शी व्यवस्था सुनिश्चित की है। यूपी पुलिस के एप UPCOP की मदद से ऑनलाइन एफआईआर या मुकदमा दर्ज कराने की सुविधा दी गई है। ऑनलाइन एफआईआर दर्ज होने के बाद उसकी कॉपी भी UPCOP एप के माध्यम से प्राप्त हो जाएगी।

आनलाइन एफआईआर

कई बार दो थानों के सीमा विवाद की चलते भी लोगों को एफआईआर या मुकदमा दर्ज कराने में दिक्कत का सामना करना पड़ता है। इस एप के माध्यम से इससे भी छुटकारा मिल जाएगा। एप की मदद से थाना क्षेत्र के सीमा की भी जानकारी मिल जाएगी। इसके साथ ही एप से पुलिस से जुड़ी हेल्पलाइन नंबर, पुलिस अधिकारियों का नंबर भी प्राप्त किया जा सकता है। एप को इस्तेमाल करने के लिए इसे प्ले स्टोर से डाउनलोड कर अपना माेबाइल नंबर, पता, नाम और ईमेल आईडी डालकर इस पर रजिस्ट्रेशन करना होगा।

इसके बाद एप काम करना शुरू कर देगा। आप इस पर अपनी शिकायत डालकर एफआईआर कराने के साथ ही इसकी काॅपी भी प्राप्त कर सकेंगे। वहीं आप अपनी एफआईआर पर पुलिस द्वारा की जा रही कार्रवाई के संबंध में भी पूरी जानकारी ले सकेंगे। रिपोर्ट दर्ज होते ही उसका एक यूनीक नंबर आप के मोबाइल पर मिल जाएगा।जिसकी मदद से अाप अपने केस की स्टेटस रिपोर्ट भी पता कर सकते हैं।

ये भी पढ़े: बल्लेबाज अंबाती रायुडू को मिला दूसरे देश की नागरिकता का ऑफर

UPCOP एप में ऑनलाइन एफआईआर दर्ज करने के साथ पुलिस वेरिफिकेशन की भी सुविधा दी गई है। इस एप में 27 प्रकार के आप्शन दिए गए हैं। इसमें गुमशुदगी, दुर्घटना, चोरी आदि के मामले में ऑनलाइन दर्ज कराने के साथ चरित्र प्रमाण पत्र, कर्मचारी सत्यापन, किरायेदार वेरिफिकेशन आदि की भी सुविधा प्रदान किया गया है। ऑनलाइन एफआईआर के साथ ही साथ पुलिस के UPCOP एप में पोस्टमार्टम रिपोर्ट की भी जानकारी ऑनलाइन मिल सकेगी। इसके लिए सगे-संबंधी को एप में पूछे गए कुछ जानकारियों को देना होगा। इसके बाद पोस्टमार्टम रिपोर्ट भी देख सकेंगे।

बता दें कि UPCOP यूपीकाॅप एप पर 7 साल से कम सजा वाले अपराधों की ही ऑनलाइन एफआईआर Online FIR रिपोर्ट दर्ज हो सकेगी। जैसे मोबाइल चोरी, पर्स चोरी, चेन, मोबाइल और पर्स स्नैचिंग, वाहन चोरी, घर में चोरी, बच्चों या बड़ों की गुमशुदगी, साइबर क्राइम और लूट के मामले ऐप से ऑनलाइन एफआईआर दर्ज कराए जा सकते हैं। वहीं गंभीर अपराध जैसे डकैती, हत्या का प्रयास, हत्या, ठगी जैसे बड़े अपराधों की रिपोर्ट दर्ज कराने के लिए थाने ही जाना पड़ेगा।

देखे वीडियो-

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...