चारधाम यात्रा पर जाने वाले यात्रीयो से उत्तराखंड बॉर्डर पर ही हो रहे ठगी – दो गिरफ्तार

चारधाम यात्रा

चारधाम यात्रा पर (Chardham Yatra) जाने वाले यात्रियों से ग्रीन कार्ड फिटनेस लाइसेंस आदि के नाम पर शासन द्वारा निर्धारित शुल्क से अतिरिक्त शुल्क वसूलने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है

रुड़की। चारधाम यात्रा (Chardham Yatra) पर जाने वाले यात्रियों से ग्रीन कार्ड फिटनेस लाइसेंस आदि के नाम पर शासन द्वारा निर्धारित शुल्क से अतिरिक्त शुल्क वसूलने वाले दो आरोपियों को पुलिस ने गिरफ्तार किया है। आरोपियों के पास से प्रिंटर लैपटॉप एवं अन्य उपकरण भी बरामद हुए है।

उत्तराखंड शासन द्वारा चारधाम यात्रा (Chardham Yatra) के आने वाले यात्रियों की टैक्सी गाड़ियों हेतु ऑनलाइन ग्रीन कार्ड फिटनेस लाइसेंस की अनिवार्यता लागू की गई है। जिसको देखते हुए मंगलौर कोतवाली क्षेत्र के नारसन स्थित आरटीओ चेक पोस्ट पर ऑनलाइन के माध्यम से ग्रीन कार्ड फिटनेस लाइसेंस बनाने का कार्य किया जा रहा है जिसमें शासन द्वारा निर्धारित शुल्क भी ऑनलाइन जमा किया जाता है।

ये भी पढ़े : Gyanvapi Matter : ज्ञानवापी मामले में रिपोर्ट की जाँच करने में दो से तीन दिन का समय लग सकता है

चेक पोस्ट पर तैनात सहायक संभागीय अधिकारी कुलवंत सिंह चौहान ने मंगलौर कोतवाली में तहरीर देकर बताया कि आरटीओ चेक पोस्ट नेशनल परिसर के आसपास ऑनलाइन माध्यम से ग्रीन कार्ड फीस,हिल लाइसेंस, फीस तथा मोटर वाहन कर जमा करने के नाम पर वाहन स्वामी व चालको से निर्धारित शुल्क से अधिक वसूले जा रहे हैं। तहरीर के आधार पर पुलिस ने मामले की जांच शुरू की और टीम का गठन किया गया।

16 मई को मुखबिर की सूचना पर पुलिस टीम द्वारा शाकुंभरी होटल के पास से आरोपी अनीश पुत्र सगीर अहमद निवासी सरबट गेट मुजफ्फरनगर को तीन ड्राइविंग लाइसेंस, तीन गाड़ी के फोटो स्टेट कागजात तथा 4500 नगदी के साथ गिरफ्तार किया। पूछताछ में आरोपी ने बताया कि वह मुजफ्फरनगर में पहले ऑनलाइन लाइसेंस कार्ड बनाने का कार्य करता था इसलिए मैं चार-पांच दिनों से चार धाम यात्रा को जाने वाले यात्रियों ग्रीन कार्ड ड्राइविंग हिल लाइसेंस बनाने के लिए नारसन बॉर्डर पर आने लगा।

पिछले चार-पांच दिनों में 15 से 20 लाइसेंस बनाए गए

अभी उसने पुलिस को बताया कि उसके द्वारा 2 दिन पूर्व तीन पानीपत की यात्रियों की गाड़ी के ग्रीन कार्ड फिटनेस आदि बनाने के लिए उनसे ₹10000 लिए गए थे जिसमें से ₹55000 कार्य में खर्च हो गए हैं उसने यह कार्य सोनू निवासी रुड़की से करवाए थे वह लैपटॉप लेकर पुरकाजी के पास बैठा था अभियुक्त ने बताया कि पूर्व में उसके द्वारा चार पांच बार निक्की निवासी नारसन के माध्यम से पैसे जमा कराए गए थे। अभियुक्त अनीश के बताए अनुसार संजीव कुमार उर्फ विक्की पुत्र नरेंद्र सिंह निवासी खेड़ा जट थाना मंगलौर को भी गिरफ्तार किया गया।

वीडियो में खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Click Here & Download Now The Lucknow Meat Wala