PM Modi ने सभी राज्यों से किया निवेदन कहा की सभी राज्य करे पेट्रोल डीज़ल पर वैट (VAT) कम

केंद्रीय उत्पाद शुल्क में कमी करके कई राज्यों ने वैट(VAT) कम किये ,जिससे जनता को मिली बड़ी राहत इसके साथ ही कई राज्यों ने अभी वैट (VAT) कम नहीं किया।

केंद्र सरकार ने पेट्रोल डीज़ल पर केंद्रीय उत्पाद शुल्क कम करने के बाद भी कुछ राज्यों ने अभी वैट (VAT) कम नहीं किया है जिसकी वजह से जनता को काफी परेशानी उठानी पड़ रही। PM Modi ने इस बात पर आपत्ति जताई है उन्होंने वैट (VAT) कम न करने वाले राज्यों से कहा है की इसपे जल्द ही कार्य वाही करे। पेट्रोल डीज़ल पर बढे वैट को कम करे। साथ ही PM Modi ने बताया की पिछले 6 महीनो से वैट (VAT) कम ना करके उस पर अधिक ऊपरी कमाई की गयी है जिसका ब्यौरा उन्होंने दिया। इसके बारे में आगे करते हुए उन्होंने बताया की राज्य अगर पेट्रोल डीज़ल पर बढे वैट (VAT) को कम कर दे तो वहां की जनता को बड़ी राहत मिल सकती है उन्होंने राज्यों से अनुरोध किया की जल्द ही वैट (VAT) को कम कर दे ।

विपक्ष शासित राज्य पर निशाना साधा

प्रधानमंत्री ने विपक्ष पर आरोप लगाते हुए कहा की अपने मोटी कमाई के वजह से जनता के साथ अन्याय कर रही जिससे जनता को काफी समस्याओ का सामना करना पड़ रहा , तो वही दूसरी ओर विपक्ष की कांग्रेस सरकार ने उल्टा डबल इंजन की सरकार पर ही निशाना साधते हुए कहा की एक तरफ पेट्रोकेमिकल प्रोडक्ट पर ज़्यादा कर लगाया जा रहा दूसरी ओर आरोप हम पर लगाया जा रहा।

अघोषित विद्युत कटौती से नाराज समाजवादी पार्टी के नेता चौधरी शहरयार ने दी आंदोलन की चेतावनी

पेट्रोल डीज़ल पर बढ़ते हुए कीमतों के दरों में कमी

पिछले साल नवंबर में पेट्रोल और डीज़ल के बढ़ते दामों का ब्यौरा देते हुए बताया की जनता को बढ़ती कीमतों से राहत देने के लिए केंद्र सरकार ने उत्पाद कर में पेट्रोल में 5 रूपए प्रति लीटर तथा डीज़ल में 10 रूपए प्रति लीटर कम किया गया था। इसके बाद दिल्ली समेत भाजपा शासित राज्यों में इसका मूल्य कम किया गया।लेकिन कुछ राज्य जैसे तमिलनाडु ,केरल ,महाराष्ट्र,बंगाल ,आंध्रा प्रदेश ,तेलंगना , झारखण्ड पेट्रोल डीज़ल पर बढ़ते हुए कीमतों के दरों में कमी ने मूल्य कम करने से साफ मना कर दिया था।

केंद्र सरकार द्वारा लाभ और हानि का ब्यौरा

केंद्र सरकार ने पेट्रोल और डीज़ल पर लाभ और हानि का ब्यौरा देते हुए बताया की जिन राज्यों ने कर कम किये थे उन्हें 23265 करोड़ के फायदे से वंचित रह गए ,इसके साथ ही जिन्होंने कर शुल्क कम नहीं किया उन्हें 12441 करोड़ के लाभ में रहे। PM Modi ने सीधे शब्दों में कहा है की यूक्रेन संकट से विश्व के अलावा हमे भी काफी नुकसान हुआ है जिसके लिए बढ़ती हुई महंगाई को लेकर केंद्र और राज्य सरकारों को एक साथ मिलना होगा । लेकिन कुछ राज्यों में पेट्रोल और डीज़ल पर वैट (VAT) बढ़ने से जनता को परेशानी हो रही, जो की सहकारी संघ एकता के विरुद्ध है।इसके साथ ही उन्होंने कहा की वो किसी भी राज्य सरकार का विरोध नहीं कर रहे बल्कि वैट (VAT) कम करने के लिए निवेदन कर रहे।

पेट्रोल और डीज़ल के दामों में वृद्धि होने से जनता का नुकसान

कुछ राज्यों में अधिक वैट (VAT) वसूलने की वजह से वहां की जनता परेशान हो रही है। प्रधानमंत्री ने यह भी बताया कि केंद्र सरकार को पेट्रोल और डीजल पर केंद्रीय उत्पाद कर से जो राजस्व मिलता है, उसका 42 प्रतिशत हिस्सा राज्यों को ही दिया जा रहा है। इसके आगे बात करते हुए प्रधानमंत्री ने बताया की अब आप भी अपने राज्य के नागरिकों को वैट (VAT) कम करके इसका फायदा दीजिये, कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखकर हालात का ब्यौरा लेने के लिए बुलाई गई मुख्यमंत्रियों की बैठक को संबोधित करते हुए बताया की PM Modi ने कुछ राज्यों में पेट्रोल-डीजल की अधिक कीमत से होने वाली समस्या के बारे में बात किया। इसके साथ ही PM Modi ने यह बात तब की जब कई विशेषज्ञ और आर्थिक एजेंसियां महंगे पेट्रोल और डीजल के बढ़ते हुए कीमत की वजह से बढ़ते हुए महंगाई का खतरा बता रही हैं।

वीडियो में खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Click Here & Download Now The Lucknow Meat Wala App