नौ जुलाई को चक्का जाम करेगी रोडवेज इम्प्लाइज यूनियन,सरकार के वादाखिलाफी से है नाराज

यूनियन ने साफ कहा है वेतन बढ़ोत्तरी समेत कई अन्य लंबित मांगों को लेकर सरकार ने निर्णय नहीं लिया तो वह 9-10 जुलाई को रोडवेज का चक्का जाम कर दिया जाएगा।

गोरखपुर । यूपी रोडवेज इंप्लाइज यूनियन के नेतृत्व में रोडवेज कर्मचारियों की  गोकुल अतिथि भवन में आयोजित वादा निभाओ, लोकप्रिय रोडवेज बचाओं सम्मेलन में सरकार की वादाखिलाफी को लेकर नाराजगी जताई गई। यूनियन ने साफ साफ कहा है कि वेतन बढ़ोत्तरी समेत कई अन्य लंबित मांगों को लेकर सरकार ने निर्णय नहीं लिया तो वह 9-10 जुलाई को रोडवेज का चक्का जाम कर दिया जाएगा।

घाटे में चल रहे निगमों ने सातवें वेतनमान को लागू कर दिया और रोडवेज अभी तक इसे लागू नहीं कर कर्मचारियों का उत्पीड़न कर रहा है।

प्रदेश भर से जुटे कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए यूनियन के प्रांतीय अध्यक्ष रामजी त्रिपाठी ने कहा कि मेहनतकश कर्मचारियों ने अपनी कड़ी मेहनत से वर्तमान समय में सड़क परिवहन निगम को 122 करोड़ के फायदे में लाकर खड़ा किया है। विपरीत परिस्थितियों में भी कर्मचारी जनता को मंजिल तक पहुंचा रहे हैं। घाटे में चल रहे निगमों ने सातवें वेतनमान को लागू कर दिया और रोडवेज अभी तक इसे लागू नहीं कर कर्मचारियों का उत्पीड़न कर रहा है।

आठ अप्रैल 2018 को शासन से वार्ता हुई थी।  शासन ने 10 दिन में सातवां वेतनमान लागू करने का आश्वासन भी दिया था मगर अभी तक उसे पूरा नहीं किया।

महामंत्री तेज बहादुर शर्मा ने कहा कि सातवें वेतनमान की संस्तुतियों को लागू कराए जाने, एसीपी व्यवस्था को फिर से बहाल किए जाने, संविदा चालकों, परिचालकों के नियमितिकरण समेत 16 मांगों को लेकर आठ अप्रैल 2018 को शासन से वार्ता हुई थी। शासन ने 10 दिन में सातवां वेतनमान लागू करने का आश्वासन भी दिया था मगर अभी तक उसे पूरा नहीं किया।

कार्यक्रम में मुख्य रुप से शिवम त्रिपाठी, अमरमणि पांडेय, श्रीलाल तिवारी, देवेंद्र सिंह, डीवी सिंह, संतोष कुमार, क्षेत्रीय अध्यक्ष दिनेशमणि मिश्र, इंद्रेश मिश्रा, त्रिभुवन सिंह, दलसिंगार यादव, मुमताज अहमद, शंभू सेठ, मो. रसीद, मनोज चंद्र, उमाशंकर पति त्रिपाठी समेत गोरखपुर, आजमगढ़, इलाहाबाद क्षेत्र के कई कर्मचारी नेता मौजूद रहे। कार्यक्रम का संचालन क्षेत्री मंत्री राजेश पांडेय ने किया।