राजनीति की झप्पी, सैंड आर्टिस्ट ने रेत के जरिये राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को गले लगाने की बनाई कलाकृति

बलिया के एक सैंड आर्टिस्ट ने रेत के जरिये अविश्वाश प्रस्ताव लाये जाने के दौरान राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को गले लगाना और आँखों का इशारा करने की कलाकृति बना दी

रिपोर्ट @ राणा प्रताप सिंह

बलिया,यूपी। अविश्वाश प्रस्ताव के दौरान संसद भवन में राहुल गांधी द्वारा प्रधानमंत्री मोदी को गले लगाने और आखों के ज़रिये किये गए इशारे देश में सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बने ऐसे, बलिया के एक सैंड आर्टिस्ट ने रेत के जरिये कलाकृति बना कर पूरी घटना को जीवंत कर दिया। आर्थिक तंगी से जूझते इस हुनरमंद सैंड आर्टिस्ट का कहना है की देश के विकास में पक्ष और मिलकर काम करें तो देश की तकदीर और तश्वीर दोनों बदल जाएगी।

विपक्ष द्वारा अविश्वाश प्रस्ताव लाये जाने के दौरान जिस तरह राहुल गांधी ने प्रधानमंत्री मोदी को गले लगाया और थोड़ी ही देर बाद आँखों का इशारा। देश में सबसे ज्यादा चर्चा का विषय बना, बलिया के बांसडीह तहसील अंतर्गत राजागाव खरौनी के रहने वाले सैंड आर्टिस्ट रुपेश सिंह ने रेत से इस पूरी घटना की कलाकृति बना दी, रुपेश के इस हुनर को देखकर हर कोई हैरान है।

आर्थिक तंगी से जूझते रुपेश ने कभी हार नहीं मानी और अपनी कला के ज़रिये नई-नई कलाकृतियों को बनाकर अपने हुनर का प्रदर्शन करते रहते है। काशी विद्यापीठ से फाइनआर्ट कर रहे रुपेश रेत से दुनिया की सबसे बड़ी कलाकृति बनाकर विश्व रिकार्ड बनाना चाहते है। ऐसे में रुपेश का कहना है की अगर सरकार उन्हें आर्थिक मदद करे तो वो दुनिया के सामने भारत का नाम रौशन करेंगे।

प्रतिभाएं सिर्फ शहरों में ही नहीं गावों में भी होती है बशर्ते गावं की प्रतिभाएं कई बार अवसर ना मिलने के कारण आगे नहीं बढ़ पाती। रुपेश की काबिलीयत और हुनर देखकर गावं वाले भी खुश है। ग्रामीणों को रुपेश की कला पर गर्व है क्योंकि मुट्ठियों से सरक जाने वाली रेत को चुटकियों से कलाकृति में बदलने का हुनर रुपेश की काबिलियत को साबित करता है।