South Egypt: खतने से बच्ची की मौत, खतना करने वाले चिकित्सक हुआ गिरफ्तार

- in Featured, विदेश
South Egypt

South Egypt: देश में खतना अपराध होने के बावजूद बड़े पैमाने पर इसकी सदियों पुरानी परंपरा चल रही है

दक्षिणी मिस्र (South Egypt) में 12 साल की एक बच्ची की खतने (FGM) के बाद मौत हो गई। एक न्यायिक बयान में कहा गया कि बच्ची के माता पिता उसे उस चिकित्सक के पास ले गए थे जो एफजीएम करता था। मिस्र की संसद में वर्ष 2008 में एक कानून पारित किया गया, जिसके तहत महिलाओं के खतने पर प्रतिबंध लग गया। हालांकि विपक्षी दल ने इसका पुरजोर विरोध किया था। देश में खतना अपराध होने के बावजूद बड़े पैमाने पर इसकी सदियों पुरानी परंपरा चल रही है।

ये भी पढ़े:वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेश किया अपना दूसरा बजट, और कहा……

South Egypt

अभियोजन दफ्तर से गुरुवार रात एक बयान जारी करके कहा कि असिउत प्रांत में बच्ची की मौत के बाद मिस्र के सरकारी वकील ने बच्ची के माता-पिता और खतना करने वाले चिकित्सक को गिरफ्तार करने के आदेश जारी किए।तदवेन जेंडर रिसर्च सेंटर के प्रबंध निदेशक अल्मे फहमी कहते हैं, ‘मिस्र में कई और लड़कियों को खतने के लिए बाध्य किया जाएगा और उनमें से कई लड़कियों की तब तक मौत होती रहेंगी, जब तक कि देश में इसके लिए स्पष्ट रणनीति नहीं होगी और इसे सही में अपराध नहीं माना जाएगा।

ये भी पढ़े:Coronavirus:भारतीय नागरिकों को वापस लाने के लिए,एअर इंडिया विमान दिल्ली से रवाना

सरकार ने 2015 में एक सर्वेक्षण कराया था, जिसमें यह सामने आया कि मिस्र की 87 फीसदी महिलाओं का 15 से 49 साल की उम्र में खतना हुआ था। 2016 में मिस्र के सांसदों ने एफजीएम कानून में संशोधन किया था, जिसमें इसे छोटे जुर्म की श्रेणी से हटा कर बड़े जुर्म की श्रेणी में लाया गया। पहले इसके दोषियों को दो साल तक कि जेल का प्रावधान था, लेकिन बड़े जुर्म की श्रेणी में आने के बाद इसके लिए कड़े दंड के प्रावधान हैं। हालांकि महिला अधिकारों की वकील कहती हैं कि इस कानून में अब भी कई खामियां हैं। हाल के वर्षों में बच्चियों की खतने के बाद मौत के कई मामले सामने आए हैं।

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...