जल संरक्षण के रूप में विकसित किया जाएगा सुमेर सागर ताल – एसडीएम सदर

ताल को अपने अस्तित्व में लाने की चल रहा है तैयारी

गोरखपुर । जैसे-जैसे आबादी बढ़ती जा रही है ताल पोखरे नदियों की संख्या घटती जा रही है और बाढ़ जैसी विभीषिका से लोगों को जूझना पड़ता है इतना ही नहीं महानगर में तो जलभराव जैसी समस्या से लोगों को सामना करना पड़ रहा है। लोग अपने फायदे और भूमाफिया अपने मुनाफे के चक्कर में ताल पोखरे की जमीन को पाटकर उसे अच्छे दामों में बेच देते है। जल संरक्षण ना होने की वजह से किसानों को पानी जैसी समस्या से जूझना पड़ता है।

तेजतर्रार आईएएस ऑफिसर ज्वाइन मजिस्ट्रेट /उप जिलाधिकारी सदर गौरव सिंह सोगरवाल अपने गोरखपुर तैनाती के बाद से ही लगातार सरकारी जमीनों पर अवैध कब्जे को मुक्त कराने का कार्य किया। गोरखपुर में लैंड बैंक की भी स्थापना उन्होंने ही की। शहर के बीचोबीच सुमेर सागर ताल के नाम से कीमती जमीन पर भूमाफिया की वर्षों से निगाह थी ।

भूमाफिया नगर निगम मिलकर वहां पर सी सी रोड का निर्माण कराने के साथ ही जीडीए द्वारा उस जमीन पर नक्शा भी पास करा दिया और लोगों ने ताल की जमीन पर दो मंजिलें इमारतें भी खड़ी कर दी है।

डेली न्यूज़ से बात करते हुए उप जिलाधिकारी सदर गौरव सिंह सोगरवाल ने बताया कि मार्च में ही अभियान चलाकर सुमेर सागर साल की जमीन को खाली कराया गया था । कार्रवाई के दौरान कुछ लोगों ने रजिस्ट्री पेपर भी देखा है जिसकी जांच की गई तो जिस गाटा संख्या को वह दिखा रहे हैं उससे हटकर दूसरी जगह उन्होंने निर्माण कराया है बहुत से लोगों का नक्शा स्वीकृति भी अभी पेंडिंग में पड़ी हुई है इस संबंध में जीडीए वीसी सर से भी बात की जा रही है कि ऐसे लोगों के नक्शे को निरस्त करें ।

जो गरीब लोग झोपड़पट्टी डाल कर वहां रह रहे थे उन्हें पुनर्स्थापित करने की व्यवस्था बनाई जाएगी क्योंकि यह 18 एकड़ जमीन ताल के रूप में दर्ज है। जिसका सुंदरीकरण करा कर इसे जल संरक्षण के रूप में विकसित किया जाएगा। और महानगर के लोगों को जलभराव की समस्या थी राहत भी मिलेगी।

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/
Loading...