वर्दी को दागदार करने वाले निलंबित सिपाही पर होगी बर्खास्तगी की कार्रवाई

गोरखपुर। गो-तस्करी और शहर में फैले स्मैक के धंधे में संलिप्त सिपाही पर बर्खास्तगी की कार्रवाई की जाएगी। एसएसपी शलभ माथुर ने आरोपी सिपाही के बर्खास्तगी की फाइल तैयार करने का आदेश दे दिया है। इसके साथ सिपाही का नाम स्मैक कारोबार और गो-तस्करी में दर्ज केस डायरी में शामिल कर दिया गया है। सिपाही को कुछ महीने पहले पशु तस्करी में मददगार पाए जाने पर निलंबित किया गया था।

खोराबार क्षेत्र में क्राइम ब्रांच और पुलिस की टीम ने घेराबंदी कर पशु तस्करों को पकड़ा था। पुलिस की तफ्तीश में यह मामला सामने आया था कि खोराबार थाने में तैनात सिपाही इकरामल्लाह खां ही पशु तस्करों की मदद करता है। पशु तस्कर उसके ही बताए रास्ते पर चलकर आसानी से बिहार पहुंच जाते थे।

सीओ क्राइम प्रवीण सिंह की रिपोर्ट पर एसएसपी ने सिपाही को निलंबित कर दिया था। इसके बाद शहर के कोतवाली, राजघाट, तिवारीपुर समेत अन्य क्षेत्रों में स्मैक के कारोबार में भी सिपाही की संलिप्तता उजागर होने पर पुलिस अधिकारी हैरान हो गए। गलत कार्यों में सिपाही की संलिप्तता की पुष्टि होने के बाद ही उसका नाम केस डायरी में नाम शामिल कर अभियुक्त बनाया गया है। अब आरोपी सिपाही के बर्खास्तगी की तैयारी की जा रही है। एसएसपी ने बर्खास्तगी की फाइल तैयार करने का आदेश दे दिया है। जल्द ही उसे बर्खास्त कर दिया जाएगा।