फ़िरोज़ाबाद में हंगामा, नालबंद पुलिस चौकी फूंकी, मेरठ मुजफ्फरनगर में हुआ पथराव

फ़िरोज़ाबाद

फ़िरोज़ाबाद:नमाज अदा कर लौट रहे लोगों ने नालबंद पुलिस चौकी में आग लगा दी,मेरठ में कोतवाली थाने के सामने नमाज करके लौट रहे लोगों ने प्रदर्शन और नारेबाजी की 

नागरिकता संशोधन कानून को लेकर गुरुवार को लखनऊ सहित कई जिलों में बवाल के बाद आज जुमे की नमाज के बाद के माहौल पर सभी की निगाह थी। पुलिस की तमाम सक्रियता के बाद भी मेरठ, मुजफ्फरनगर व फिरोजाबाद में भीड़ ने माहौल खराब किया। नमाज के बाद इन लोगों ने पुलिस पर पथराव किया। इसके बाद पुलिस ने इन लोगों पर नियंत्रण करने के लिए लाठीचार्ज किया। फिलहाल सभी जगह पर स्थिति नियंत्रण में है, लेकिन माहौल में तनाव बना है।

ये भी पढ़े: CAA विरोध को लेकर गोरखपुर में लोगोंं ने एतियातन बंद की दुकानें, इंटरनेट ठप

फ़िरोज़ाबाद

फीरोजाबाद में बवाल हो गया। शुक्रवार को यहां नमाज अदा कर रहे लौट रहे लोगों ने नालबंद पुलिस चौकी में आग लगा दी। कई वाहन भी आग के हवाले कर दिए और पुलिस के वाहनों में भी तोड़फोड़ कर दी। इस बीच पथराव व फायरिंग भी चल रही है। शुक्रवार दोपहर दो बजे के आसपास जामा मस्जिद से नमाज अदा कर लोग जुलूस के रूप में नालबंद पहुंचे। वहां की मस्जिद से निकले लोग भी उनमें शामिल हो गए। इसके बाद बवाल शुरू कर दिया। सीएए का विरोध कर रहे लोगों ने चौकसी के लिए तैनात पुलिस पर पथराव शुरू कर दिया गया। बचाव में पुलिस को आंसु गैस के गोले दागने पड़े। इसके बाद भी आक्रोशित लोग शांत नहीं हुए।

ये भी पढ़े: दिल्ली की तीस हजारी कोर्ट ने कुलदीप सिंह सेंगर को सुनाई आजीवन कारावास की सजा

उन्होंने नालबंद पुलिस चौकी के बाहर खड़े वाहनों को आग के हवाले कर दिया। कई बाइक जलाकर खाक कर दी इसके बाद पुलिस के वाहनों में भी तोड़फो़ड़ शुरू कर दी गई। साथ ही नालबंद चौकी पर कब्जा कर लिया। वहां के फर्नीचर को बाहर निकालकर आग लगा दी। स्थिति बेकाबू होने पर पुलिस को फायरिंग करनी पड़ी। शहर के रसूलपुर क्षेत्र में भी लोग सड़कों पर निकल आए हैं। आनन-फानन में फीरोजाबाद में चौकसी कड़ी कर दी गई है। हाईवे पर आ रहे वाहनों को रोक दिया गया है। आसपास के थानों की पुलिस भी बुला ली गई है।

मेरठ में कोतवाली थाने के सामने नमाज करके लौट रहे लोगों ने प्रदर्शन और नारेबाजी शुरू कर दी। करीब सवा दो बजे लोगों ने वहां पर तोडफ़ोड़ शुरू कर दी, जिसके चलते पुलिस को भी भीड़ को खदेडऩे के लिए लाठीचार्ज करना पड़ा। यहां पर अभी भीड़ और पुलिस के बीच संघर्ष चल रहा है। डीएम, एसएसपी मौके पर पहुंचे। भीड़ को खदेड़ रहे हैं। हालात को नियंत्रित करने की कोशिश की जा रही है।फ़िरोज़ाबाद

मुजफ्फरनगर जिले के खतौली में दोपहर को जुमे की नमाज के बाद लोग मुख्य चौराहे पर प्रदर्शन कर रहे थे। इनको पहले तो पुलिस ने हटा दिया लेकिन में बाद यही लोग बालकराम पहुंच गए और पुन: प्रदर्शन करने लगे। इस दौरान पुलिस को लाठीचार्ज करना पड़ा। इसके बाद भीड़ ने पुलिस पर पथराव भी शुरू कर दिया। बड़े अफसर भी मौके पर पहुंच गए हैं।

ये भी पढ़े: पुलिस को मिले सुराग,लखनऊ में हुई हिंसा में बांग्लादेशियों के होने की जताई आशंका

बिजनौर में सभी मस्जिदों से लोग जामा मस्जिद में एकत्र हो गए हैं। यहां पर भीड़ की संख्या 15 से 20 हजार है। यह सभी लोग लगातार नारेबाजी कर रहे हैं। किसी प्रकार की हिंसा की अभी सूचना नहीं हैं। वरिष्ठ अफसर मौके पर हैं।

नागरिकता संशोधन कानून के विरोध में सहारनपुर में जुमे की नमाज के बाद शहर की सभी मस्जिदों से हजारों की संख्या में भीड़ शहर घंटाघर की बढ़ रही है। भीड़ ने पुलिस के सभी बैरीकेडिंग भी गिरा दिए हैं। इस दौरान भारी संख्या में पुलिस बल तैनात है। भीड़ प्रदर्शन करते हुए नारे लगा रही है। नमाज पढ़कर लौट रहे लोगों ने मोदी सरकार के नागरिकता संशोधन कानून को पूरी तरह से गलत बताया।

वरिष्ठ अफसर भी मौके पर ही मौजूद हैं। किसी प्रकार की हिंसा की कोई सूचना नहीं है। दूसरी ओर देवबंद में भी हजारों लोग बीच बाजार आ गए हैं। यहां पर लोग मोदी सरकार के विरोध में नारेबाजी कर रहे हैं। वहीं मेरठ में भी शाही मस्जिद में तकरीर के दौरान शहर काजी ने नागरिकता संशोधन कानून को गलत करार दिया। यहां पर जुमे की नमाज के दौरान बड़ी संख्या में लोग काली पट्टी बांधकर आए थे। शहर काजी ने तकरीर के दौरान सीएए का शांतिपूर्ण ढंग से विरोध जताने की अपील की है।