UPSC Inspiration Story : सुनने की शक्ति ना होने के बाद भी 23 वर्ष के उम्र में बनी IAS

UPSC Inspiration Story

UPSC Inspiration Story : सुनने की शक्ति ना होने के बाद भी सौम्या ने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करने का फैसला किया। महज 23 साल की उम्र में अपने कड़ी मेहनत के बल पर यूपीएससी परीक्षा पास की।

UPSC Inspiration Story : कहते है, करत-करत अभ्यास के जड़मति होत सुजान – इसलिए हमें हमेशा प्रयास करते रहना चाहिये ऐसी सिद्ध किया है आईएएस ऑफिसर सौम्या शर्मा ने (IAS Officer Saumya Sharma) जिन्होंने अपनी सुनने की शक्ति खोने के बाद भी अपने पहले ही प्रयास में यूपीएससी सिविस सेवा परीक्षा (UPSC Civil Services Exam) पास किया साथ ही साथ 9वी रैंक हासिल कर ऑल इंडिया टॉपर (All India Topper) भी बन गयी। सौम्या को यूपीएससी की पढ़ाई के बीच बहुत सी परेशानियों का सामना करना पड़ा।अपने आप को हमेशा मोटीवेट किया और वो पहले ही प्रयास में यूपीएससी जैसी कठिन परीक्षा पास कर ली। जानते है सौम्या के यूपीएससी का सफर।

ये भी पढ़े :Recognition Canceled : आखिर क्यों यूपी सरकार करेगी 38 स्कूलों की मान्यता रद्द

सुनने की क्षमता चली गयी 16 वर्ष की आयु में

सौम्या जब 16 वर्ष की थी तब एक दिन अचानक अपनी सुनने की शक्ति को खो दिया। सौम्या को इस सदमें से बाहर निकलना बहुत मुश्किल था, लेकिन कुछ समय बाद उन्होंने खुद को समझाया कि अब यही सच है और उन्हें ऐसी ही जीवन भर सुनाई नहीं पड़ेगा। फ़िलहाल सौम्या श्रवण – संबंधी उपकरण की मदद से सुन लेती हैं।
सौम्या की पढाई की बात करें तो सौम्या हमेशा पढ़ने में बहुत होशियार थी। उन्होंने अपनी स्कूली पढाई खत्म करने के बाद नेशनल लॉ स्कूल में एडमिशन लिया आपको बता दें कि सौम्या स्थायी रूप से दिल्ली की रहने वाली हैं. लॉ के अंतिम वर्ष में ही सौम्या ने यूपीएससी परीक्षा की तैयारी करने का निर्णय लिया उन्होंने महज 23 साल की उम्र में अपने कड़ी मेहनत के बल पर यूपीएससी परीक्षा पास की।

तेज बुखार होने के बावजूद उन्होंने दिया मेंस

आपको बता दें कि सौम्या को मेंस परीक्षा के बीच बहुत तेज बुखार था, लेकिन सौम्या ने ऐसी हालत में परीक्षा देने का फैसला किया। परीक्षा के दिनों में सौम्या को 102 डिग्री बुखार था जो कभी-कभी 103 डिग्री भी हो जाता था। ऐसे में सौम्या को एक दिन में तीन-तीन बार ड्रिप भी चढ़ता था। यहां तक की परीक्षा में लंच ब्रेक के समय भी उन्हें ड्रिप लगवानी पड़ती थी. ऐसी बुरी हालत में सौम्या ने मेंस की परीक्षा दी थी।

सौम्या ने बिना कोचिंग के पास की यूपीएससी की परीक्षा

सौम्या को बचपन से ही अख़बार पढ़ने की शौकीन थी जिसकी वजह से यूपीएससी की परीक्षा देने में काफी सारी मदद मिली आपको बता दें कि सौम्या ने यूपीएससी परीक्षा के लिए कोई कोचिंग नहीं की, लेकिन उन्होंने टेस्ट सीरीज ज्वॉइन किया। उन्होंने प्री, मेंस और इंटरव्यू तीनों के लिए मॉक टेस्ट दिए।

सौम्या ने दिया सन्देश

सौम्या कहना हैं कि समस्याएं तो हर किसी के जीवन आती हैं, लेकिन कुछ लोग पहले ही हार मान जाते हैं, और कुछ लोग उनका डटकर सामना भी करते हैं। यह आपके ऊपर निर्भर करता है कि आप किसे चुनेगे। जहा तक यूपीएससी की परीक्षा की बात करें तो यहां आपको कठोर परिश्रम करना है और दूसरी आपका पेशेंस अगर इन दोनों को आप एक साथ लेकर चलेंगे तो सफलता आपके कदम चूमेगी।

वीडियो में खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Click Here & Download Now The Lucknow Meat Wala