Uttarakhand Utsav-2022: राज्य सभा संसद नरेश बंसल ने किया उत्तराखंड उत्सव 2022 का उद्घाटन

उत्तराखण्ड उत्सव

Uttarakhand Utsav-2022: उत्तराखण्ड उत्सव-2022 का आयोजन रूडकी नगर निगम सभागार में आयोजित किया गया, जिसका उद्घाटन राज्यसभा सांसद नरेश बंसल,मेयर गौरव गोयल द्वारा दीप प्रज्वलित कर किया गया।

उत्तराखंड ने देश की प्रगति, विकास व समृद्धि में सराहनीय योगदान किया है। साथ ही साथ उत्तराखंड देवभूमि है, जहां पर सभी को गौरव की अनुभूति होती है। यमुनोत्री, गंगोत्री, केदारनाथ, बद्रीनाथ जैसे पावन स्थल तथा देवालय उत्तराखंड में हैं, जो पूरे देश को एक सूत्र में बांधते हैं। इसी संस्कृति को ध्यान में रखते हुए कार्यक्रम में पहुंचे कलाकारों ने पाण्डव नृत्य बारामास नृत्य छपेली व जूमेलो आदि का प्रस्तुतीकरण किया। गढ़वाली गीतो पर सभी दर्शक तालियों की गड़गड़ाहट के साथ झूमने लगे।

ये भी पढ़े : Gyanvapi Matter : ज्ञानवापी मामले में रिपोर्ट की जाँच करने में दो से तीन दिन का समय लग सकता है।

राज्यसभा सांसद नरेश बंसल का सम्बोधन

कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रुप में पहुंचे नरेश बंसल ने कहा कार्यक्रम कलाकारों ने प्राचीन संस्कृति को प्रस्तुत करने का काम का किया है।तो वही सांस्कृतिक मंच पर विविध रंगारंग प्रस्तुतियों संग प्रतियोगिताओं ने उत्सव में आए लोगों को मंत्रमुग्ध कर दिया। इसके साथ ही पारंपरिक वेशभूषा में सुसज्जित छोलिया दल के कलाकारों ने समा बांध दिया।

अपने सम्बोधन में आगे उन्होंने कहा की उत्तराखंड कला, संस्कृति और लोक विधाओं से सम्पन्न प्रदेश है। यहां की लोक विधाओं और परम्पराओं ने उत्तराखंड की बरसों से चली आ रही जानकारियों को सहेजने का काम किया है। उन्ही लोकविधाओं में आता है उत्तराखंड के लोक नृत्य। उत्तराखंड के लोक नृत्य न सिर्फ उत्तराखंड वासियों के समाजिक सौहार्द को उजागर करता है बल्कि इसमें प्रकृति प्रेम की भी साफ़ झलक दिखाई देती है। साथ ही उन्होंने अपने सम्बोधन में कार्यक्रम में भाग लेने वाले प्रतिभागियों की खूब सराहना की।

मेयर गौरव गोयल का सम्बोधन

वही मेयर गौरव गोयल ने कहा कि उत्तराखंड के युवा पीढ़ी अपनी लोक संस्कृति से जुड़ी है उत्तराखंड उत्सव में कलाकारों ने उत्तराखंड संस्कृति पेश की है अपने सम्बोधन में आगे उन्होंने कहा कि ऐसे महोत्सव लोक कलाकारों को वृहद मंच उपलब्ध कराते हैं। जिसके माध्यम से लोक कलाकार लोक संस्कृति के संदेशवाहक बनकर अपनी परंपराओं और धरोहरों का प्रचार प्रसार व संवर्धन करते हैं।उत्तराखण्ड उत्सव-2022’ (Uttarakhand Utsav-2022) में उत्तराखंड के लोकगीतों एवं लोकनृत्य की धूम रही तथा लोकगीतों की धुनों पर लोग झूमने को मजबूर हो गए।

नितिन त्यागी का सम्बोधन

नितिन त्यागी ने अपने सम्बोधन में कहा की हमारी संस्था को एक कार्यक्रम मिला था उत्तराखंड की संस्कृति को सजीव रखने के लिए उत्तराखंड उत्सव में कलाकारों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम किए गए हैं.इसके साथ उन्होंने कहा की लोक भाषाओं, बोलियों, लोकगाथाओं, लोक परम्पराओं के संरक्षण और सुरक्षा का प्रयास हम सभी देशवासियों का उत्तरदायित्व है।

वीडियो में खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Click Here & Download Now The Lucknow Meat Wala