Agneepath Scheme: अग्निपथ योजना क्या है साथ ही इसका विरोध क्यों किया जा रहा आइये जानते है

Agneepath Scheme : मोदी सरकार की अग्निपथ योजना को लेकर पूरे देश में काफी तनावपूर्ण माहौल चल रहा है। सबसे अधिक युवा इस योजना का विरोध कर रहे है।

Agneepath Scheme : सरकार की ओर से 14 जून को अग्निपथ योजना शुरू होनी थी। जिसमे 4 साल में युवाओं की Armed Forces (सशस्त्र बल) में भर्ती करवाया जायेगा। इस योजना के अनुसार चयनित युवाओं को ‘अग्निवीर’ का सम्मान प्राप्त होगा लेकिन जब से केंद्र सरकार ने इस योजना की घोषणा की है तब से पूरे देश में तनावपूर्ण माहौल चल रहा है। देश के भिन्न -भिन्न राज्यों में सरकार के इस फैसले सभी नाखुश नज़र आ रहे। और अब उत्तर प्रदेश में भी कई स्थानो में लोग अग्नीपथ योजना के विरोध के लिए सामने आ रहे हैं। जानते हैं कि क्या है अग्निपथ योजना और लोग इसका विरोध क्यों कर रहे है।

ये भी पढ़े :Additional CMO अश्वनी कुमार ने मुख्यमंत्री आरोग्य मेले का किया औचक निरिक्षण

सबसे ज़्यादा युवा कर रहे इसका विरोध

युवा वर्ग इसका विरोध सबसे ज़्यादा कर रहे हैं। सेना में भर्ती होने की तैयारी कर रहे युवाओं का कहना है कि वे कई सालो से मेहनत कर सेना भर्ती में होने का सपना देखते हैं। ऐसे में 4 वर्ष की नौकरी भी देने के लिए तैयार नहीं। इसीलिए विरोध प्रदर्शन करने वाले छात्रों ने सरकार से इस योजना को वापस करने की मांग की है।

अग्निपथ योजना (Agneepath Scheme) क्या है

अग्निपथ योजना के अनुसार इस वर्ष 46 युवाओं को सशस्त्र बल में भर्ती करना है। युवाओं की भर्ती 4 वर्ष की रहेगी। इनका नाम अग्निवीर रखा जाएगा। साथ ही 30,000 से 40,000 प्रति माह का वेतन होगा और उनकी उम्र 17 से 21 वर्ष के मध्य रहेगी। इस योजना का मतलब है भर्ती हुए 25 प्रतिशत युवाओं को भविष्य में सेना में अवसर प्राप्त होगा और बाकी 75 प्रतिशत को नौकरी से हटना पड़ेगा।

दो समान सलाह अग्निपथ योजना के लिए

अग्निपथ योजना पर दो समान सलाह मिल रही है। दक्षिण पश्चिम कमान के जनरल ऑफिसर कमांडिंग इन चीफ लेफ्टिनेंट जनरल अमरदीप सिंह भिंडर ने अग्निपथ योजना को युवाओं के लिए एक सुनहरा मौका बताया है। सेना उम्मीदवारों को उनकी वरीयता और हुनर के बेस पर प्रशिक्षण दिया जाएगा। इसके साथ ही बताया कि 4 साल बाद जहां 25 प्रतिशत उम्मीदवारों को उनकी वरीयता के बेस पर सेना में भर्ती कराया जाएगा, इसके साथ ही 75 प्रतिशत को स्किल सर्टिफिकेट प्रदान किया जाएगा जिससे उन्हें अपनी प्रतिभा के अनुसार सरकारी या निजी नौकरी मिल प्राप्त हो।

मृत्यु होने पर मिलेगा मुआवजा

मृत्यु जैसे दुर्भाग्यपूर्ण घटना पर सैनिकों के लिए जो योजना है, उसमे 48 लाख रुपये का गैर अंशदायी जीवन कवर, 44 लाख रुपये की अतिरिक्त अनुग्रह राशि मिलेगी। इसके साथ ही पूरे चार वर्ष जो भुगतान मिलेगा वो भी सम्मिलित रहेगा।

मिलेगा विकलांगता पर प्रतिकर

अगर कोई सैनिक विकलांग है तो उस परिस्थिति में विकलांगता के प्रतिशत के बेस पर प्रतिकर दिया जाएगा। जिसका निर्णय चिकित्सा अधिकारी लेंगे। सैनिकों को 100 प्रतिशत, 75 प्रतिशत और 50 प्रतिशत विकलांगता की स्थिति में 44 लाख रूपये, 25 लाख और 15 लाख रूपये की अनुग्रह राशि प्रदान की जाएगी।

वीडियो में खबर देखने के लिए यहाँ क्लिक करें

Click Here & Download Now The Lucknow Meat Wala