अभिव्यक्ति की आजादी पर प्रहार क्यों ?

- in Article, देश

आलेख – चन्द्रपाल प्रजापति 

बॉलीवुड अभिनेता अनुपम खेर और अक्षय खन्ना अभिनीत और पूर्व प्रधानमंत्री डॉक्टर मनमोहन सिंह के मीडिया सलाहकार रहे, संजय बारू की किताब ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ पर आधारित फिल्म ‘द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर’ का ट्रेलर रिलीज होने बाद अब इस फिल्म को लेकर विवाद खड़ा हो गया है। इस फिल्म में डॉक्टर मनमोहन सिंह को गांधी परिवार के हाथों की कठपुतली दिखाया गया है। इस फिल्म में ये दिखाया गया है कि यूपीए के दस साल के कार्यकाल में कैसे सत्ता का रिमोट कंट्रोल गांधी परिवार के हाथ में था। और ऐसा लगता है कि इससे कांग्रेस का राजनीतिक एक्सीडेंट हो गया है।

चिप वाले ATM कार्ड करते है इस्तेमाल, तो रहें सावधान

मनमोहन सिंह को इस फिल्म से परेशान नहीं होना चाहिए और शायद उन्हें इस फिल्म पर कोई आपत्ति भी नहीं होगी। लेकिन अगर इससे किसी को आपत्ति होगी तो वो है गांधी परिवार। 2004 में कांग्रेस की जीत के बाद सोनिया गांधी ने प्रधानमंत्री का पद ठुकरा दिया था। और तब पूरे देश को ये दिखाया था कि उन्होंने बहुत बड़ा त्याग किया है। तब सत्ता को ज़हर के समान बताया गया था लेकिन इसके बाद सोनिया गांधी ने मनमोहन सिंह को प्रधानमंत्री बना दिया। और आरोप ये लगे कि मनमोहन सिंह गांधी परिवार के रिमोट कंट्रोल से चलते हैं और जैसा गांधी परिवार चाहता है, मनमोहन सिंह वही करते हैं। यही सब कुछ संजय बारू ने अपनी किताब में लिखा और अब ये सब कुछ फिल्म में भी दिखाया जा रहा है।

कांग्रेस को यही डर सता रहा है कि फिल्म के ज़रिये गांधी परिवार का नाम खराब होगा। कांग्रेस को डर लग रहा है कि रिमोट कंट्रोल वाले इस हथियार का खुलासा पूरे देश के सामने हो जाएगा। हालांकि ये खुलासा तब भी हुआ था, जब 2014 में संजय बारू की किताब आई थी। लेकिन हमारे देश में किताबों से उतना असर नहीं होता जितना फिल्मों से होता है। वैसे कांग्रेस के नेता आज भले ही फिल्म को रिलीज़ न करने की धमकी दे रहे हों, लेकिन इतिहास में बहुत से ऐसे मौके आए हैं, जब कांग्रेस फिल्मों और कलाकारों को लेकर असहनशील हुई है। हिंदी फिल्मों के मशहूर गीतकार मजरूह सुल्तानपुरी ने आज़ादी के बाद पंडित जवाहर लाल नेहरू और सरकार के विरोध में गीत लिखे थे। 1949 में मुंबई में मजरूह सुल्तानपुरी ने मिल मज़दूरों की एक रैली में एक कविता पढ़ी। ये कविता कॉमनवेल्थ देशों में भारत के शामिल होने पर लिखी गई थी। ये कविता पंडित जवाहर लाल नेहरू को बहुत बुरी लगी। और उस दौर में बॉम्बे के तत्कालीन गवर्नर मोरारजी देसाई ने मजरूह सुल्तानपुरी को जेल में डाल दिया था। तब सरकार ने ये शर्त रखी थी अगर वो लिखित रूप से माफी मांगते हैं तो उन्हें रिहा कर दिया जाएगा। लेकिन मजरूह सुल्तानपुरी ने तब माफी नहीं मांगी थी, और उन्होंने अपनी ज़िंदगी के 2 साल जेल में गुज़ारे थे। इमरजेंसी के दौर में भी फिल्मों पर खूब प्रतिबंध लगाए गए। इसी दौर में एक फिल्म आई थी नसबंदी, जिस पर आपातकाल के दौरान नसबंदी को लेकर काफी तीखा कटाक्ष किया गया था। पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की नीतियों के ख़िलाफ आवाज़ उठाने वाली इस फिल्म को, रिलीज़ होने के बाद प्रतिबंधित कर दिया गया था।  आपातकाल के दौरान बनी अमृत नाहटा की फिल्म भी बैन कर दी गई थी जिसका नाम था किस्सा कुर्सी का। मशहूर गीतकार गुलज़ार की फिल्म आंधी पर भी पाबंदी लगा दी गई थी इसी तरह इमरजेंसी के दौरान फिल्म धर्मवीर को रिलीज होने में पांच महीने लग गए। बताया जाता है कि इस फिल्म में जहां-जहां जनता शब्द का उपयोग डायलॉग में किया गया था उसे एडिट कर दिया गया था। इसकी जगह प्रजा शब्द का उपयोग करवाया गया था। फिल्म की एडिटिंग होने के बाद उसकी स्पेशल स्क्रीनिंग रखी गई थी। और सरकारी अफसरों की अनुमति के बाद ही उसे रिलीज़ किया गया था।

लखनऊ: 31 दिसम्बर की रात इंटरनेशनल DJ MILA ALIAS के साथ

इस फिल्म के विरोध से कांग्रेस की तड़फ को समझा जा सकता है कि कहीं उसका इस फिल्म के माध्यम से राजनीतिक नुकसान ना हो जाय। देश के विरोध में कोई बोलता है तो कांग्रेस को लगता है कि ये अभिव्यक्ति की आजादी है। जब उसकी ही सच्चाई को उजागर करती हुई कोई फिल्म बनती है तो उसे वो अपने ऊपर प्रहार लगता है। क्या ये अभिव्यक्ति की आजादी नहीं है ये कांग्रेस की दोहरी मानसिकता को दर्शाता है जो समाज समझ चुका है।

 बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें-

लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज-
https://fb.com/sanskarnewslko/

बस 1 क्लिक पर जानें देश-दुनिया की ताजा-तरीन खबरें Download करें संस्कार न्यूज़ चैनल की Application नीचे दिए गए लिंक पर क्लिक करें या फिर play store पे sanskarnews सर्च करें- लेटेस्ट न्यूज़ अपडेट के लिए लाइक करें हमारा फेसबुक पेज- https://fb.com/sanskarnewslko/